तिरंगा बांटने पर सिर कलम करने की धमकी:बिजनौर में आंगनबाड़ी वर्कर के घर के बाहर चस्पा मिला खत, पुलिस ने सिक्योरिटी में लगाए सिपाही

बिजनौर4 महीने पहले

बिजनौर में एक आंगनबाड़ी वर्कर के घर के बाहर धमकी भरा पत्र चस्पा मिला। पत्र में हर घर तिरंगा बांटने पर सिर कलम करने की धमकी दी गई। अंत में उस पर ISI भी लिखा था। पत्र को देखते ही पूरा परिवार सहम गया। पुलिस को मामले की सूचना दी गई। इसके बाद जांच शुरू कर दी गई है।

मामला किरतपुर थाना क्षेत्र के बुद्धू पड़ा का है। यहां अरुण कुमार उर्फ अन्नू परिवार के साथ रहते हैं। रविवार सुबह जब उनका बेटा आकाश घर के बाहर आया तो उसने दीवार पर पत्र देखा। तुरंत अंदर जाकर पिता को बताया। इसके बाद अरुण ने पत्र पढ़ा तो उनके भी होश उड़ गए।

पत्र में क्या लिखा है, ये पढ़ने से पहले भास्कर पोल में हिस्सा ले सकते हैं...

ये लिखा है पत्र में...
अरुण के घर के बाहर चस्पा पत्र में लिखा है, "अन्नू तुझे बहुत घर-घर तिरंगा देने की खुशी है अब तेरा भी सर तन से अलग करना पड़ेगा, ISI के साथी।"

यही धमकी भरा पत्र अरुण के घर के बाहर चिपका मिला था।
यही धमकी भरा पत्र अरुण के घर के बाहर चिपका मिला था।

अरुण बोले- कब क्या हो जाए पता नहीं?
अरुण ने कहा, "मेरे 14 साल के बेटे ने पत्र देखा था, उसने मुझे बताया तो मैंने पुलिस को सूचना दी। मुझे घर से बाहर जाने में डर लग रहा है। बेटा बिजनौर में स्कूल में काम करता है। वह भी पूछ रहा था कि काम पर जाऊं या नहीं। ऐसे में हमारा परिवार बहुत परेशान है। पत्नी आंगनबाड़ी में हैं तो एक दो झंडे हमने मोहल्ले में बांट दिए थे, उसके बाद ये धमकी दे दी गई। "

पुलिस ने दर्ज किया केस
धमकी भरा लेटर मिलने के बाद अरुण ने तुरंत किरतपुर थाने को सूचना दी। पुलिस ने लेटर पढ़ा और राइटिंग के बारे में जानकारी जुटाई। उसके बाद अज्ञात पर मामला दर्ज कर जांच पड़ताल शुरू की।

अरुण उर्फ अन्नू के घर के बाहर लगे पोस्टर को पढ़ते मोहल्ले के लोग।
अरुण उर्फ अन्नू के घर के बाहर लगे पोस्टर को पढ़ते मोहल्ले के लोग।

हलवाई का काम करते हैं अरुण
बुद्धू पड़ा निवासी अरुण उर्फ अन्नू हलवाई का काम करते हैं। उनकी पत्नी आंगनबाड़ी कार्यकत्री हैं। अरुण के तीन बच्चे जिनमें दो बेटे और एक बेटी हैं। अन्नू हलवाई का काम करके ही परिवार का पालन पोषण करते हैं।

अरुण के घर के बाहर मोहल्ले के लोगों की भीड़ लग गई।
अरुण के घर के बाहर मोहल्ले के लोगों की भीड़ लग गई।

अरुण के परिवार को दी गई सुरक्षा
पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI के नाम से मिले लेटर के बाद पुलिस ने अन्नू की तहरीर पर केस दर्ज करने के बाद एहतियातन उनके परिवार को सुरक्षा मुहैया करा दी है। परिवार की सुरक्षा में दो सिपाही सुबह और दो शाम को तैनात हैं। इस मामले में एसपी सिटी डॉ. प्रवीन रंजन सिंह का कहना है कि मामले में केस दर्ज कर लिया है। पीड़ित को सुरक्षा मुहैया करा दी गई है। दोषियों को पकड़ने के लिए छह टीमों का गठन किया गया है।