खुद का मरा दिखाने के लिए शराबी को जिंदा जलाया:बिजनौर से प्रेमी-प्रमिका समेत 3 गिरफ्तार, कार में झुलसा मिला था युवक

बिजनौर2 महीने पहले
बिजनौन में खुद का मरा दिखाने के लिए व्यापारी ने शराबी को जिंद जलाया।

बिजनौर में एक गन्ना क्रेशर के मालिक ने खुद को मरा हुआ दिखाने के लिए शराबी को जलाकर मारने का प्रयास किया। कार के अंदर झुलसे मिले शराबी को सफदरगंज अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मामले का खुलासा करते हुए पुलिस ने साजिश रचने वाले व्यापारी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपी के पास से फर्जी आधार कार्ड 13 लाख की नगदी और एक पिस्टल किया बरामद किया है।

दरअसल, बिजनौर के सिरधनी रोड पर 30 नवंबर की रात को एक युवक कार के अंदर जला हुआ मिला था। पुलिस ने जले हुए व्यक्ति मदन सिंह को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया था और मामले की जांच में जुट गई। पुलिस ने आज घटना का खुलासा करते हुए 3 आरोपियों सुशील गुप्ता, लाल बहादुर सैनी व रानी महिला को गिरफ्तार किया है।

बिजनौर पुलिस की गिरफ्त में साजिश रचने वाले तीनों आरोपी।
बिजनौर पुलिस की गिरफ्त में साजिश रचने वाले तीनों आरोपी।

2 साल से कारोबार में हो रहा था घाटा

पुलिस ने बताया कि आरोपी सुशील गुप्ता क्रेशर का व्यापारी है। पिछले काफी समय रानी उसके गन्ना क्रेशर पर काम करती है। इसी दौरान उसका रानी के साथ प्रेम-प्रसंग हो गया। रानी उसके साथ रहने लगी। पूछताछ में सुशील गुप्ता ने बताया कि उसके कारोबार में 2 साल से घाटा होने लगा था। उसके ऊपर करीब पौने दो करोड़ का बैंकों से कर्जा था। इसके बाद उसने अपने साथी लाल बहादुर और रानी के साथ मिलकर योजना बनाई की बैंक का कर्जा कैसे उतारा जाए और उसका रानी से प्रेम प्रसंग भी बना रहे।

बीमा के लिए रची खुद की मौत की साजिश

सभी आरोपियों ने अपना फर्जी आधार कार्ड बनवाया। इन्हीं फर्जी आधार कार्ड को असल के रूप में इस्तेमाल करते हुए व्यापारी ने योजना बनाई की अगर किसी व्यक्ति को अपनी जगह रखकर मार दे तो तो उसके बीमा का सारा पैसा परिवार को मिल जाएगा। इस योजना को अमल करने के लिए 29 तारीख को वह अपनी कार से रोडवेज बस स्टैंड चांदपुर गया, जहां से पुराने परिचित मदन सिंह निवासी मिर्जापुर बकैना को अपने साथ लिया और उसको शराब पिलाई।

कार में बैठाकर शराबी को लगा दी थी आग

नशे की हालत में उसे अपनी गाड़ी में डालकर बिजनौर से बुधनी रोड पर पहुंचा और गाड़ी सड़क किनारे खड़ी करके मदन सिंह को ड्राइवर सीट पर बैठा कर अपना मोबाइल गाड़ी में ही छोड़ दिया और मदन सिंह को सीट बेल्ट लगा दी। इसके बाद तेल डालकर मदन सिंह को आग लगा दी और गाड़ी स्टार्ट कर कार की खिड़की बंद कर फरार हो गया।

एसपी दिनेश सिंह ने बताया कि साजिश में शामिल तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। सुशील गुप्ता से पप्पू खान बने आरोपी व उसके दो साथियों को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...