बिजनौर कलक्ट्रेट पहुंचे सैकड़ों ई-रिक्शा चालक:सरकार से पुराने ई-रिक्शा के रजिस्ट्रेशन के शुल्क को कम करने की मांग की

बिजनौर2 महीने पहले
बिजनौर कलक्ट्रेट पहुंचे सैकड़ों ई-रिक्शा चालकों ने प्रदर्शन किया।

बिजनौर में आज सैकड़ों ई-रिक्शा चालक प्रदर्शन करते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचे और एक ज्ञापन मुख्यमंत्री का नाम प्रशासन को सौंपा। रिक्शा चालकों ने सरकार से मांग की कि पुराने ई-रिक्शा के पंजीकरण कराने में शुल्क कम किया जाए।

दरअसल शासन के निर्देश पर बिजनौर जिले में बिना पंजीकरण के सड़कों पर दौड़ रही ई-रिक्शा के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। साथ ही एसपी के निर्देश पर 5 दिनों के अंदर इन सभी रिक्शा चालकों को पंजीकरण कराने का निर्देश दिया गया है। इसी के चलते आज चांदपुर क्षेत्र के सैकड़ों ई-रिक्शा चालक बिजनौर कलेक्ट्रेट पहुंचे और कलेक्ट्रेट पहुंचकर प्रदर्शन किया।

रजिस्ट्रेशन कराने में लग रही रकम
रिक्शा चालकों ने मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन प्रशासन को सौंपा। ई-रिक्शा चालकों की मांग है कि वह गरीब लोग हैं और रिक्शा चलाकर अपने परिवार का पालन पोषण करते हैं और वह नई ई रिक्शा खरीदने में असमर्थ हैं। इसके साथ ही पुरानी ई-रिक्शा के रजिस्ट्रेशन कराने में भारी रकम लग रही है।

प्रदर्शन करने वालों में यह रहे शामिल
ई-रिक्शा चालकों ने मुख्यमंत्री से मांग की है कि पुराने मॉडल की ई-रिक्शा का रजिस्ट्रेशन कराने में पंजीकरण शुल्क कम किया जाए। प्रदर्शन करने वालों में वहाजुद्दीन, इमरान अहमद, शरीफ अहमद, शमशेर, रईस अहमद ,शमशाद, वसीम अहमद, इमरान अहमद, नौशाद आलम, जबर सिंह, महमूद, दिलशाद, विरेंदर, जंग बहादुर, इकबाल, शाह आलम, विनीत, राजवीर, यामीन, रईस, तस्लीम, फुरकान, लाखन सिंह, राज कुमार सहित सैकड़ों लोग मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...