बिजनौर की झालू नगर पंचायत से निकाय चुनाव पर चर्चा:कोई कह रहा कुछ काम नहीं हुआ बदलाव चाहिए, कोई बोला खूब काम हुआ

बिजनौर2 महीने पहले

बिजनौर ज़िले में नगर निकाय चुनाव की सरगर्मियां इन दिनों तेज हो चुकी हैं। चेयरमैन पद के प्रत्याशी हों या सभासद के सभी ने अभी से जोड़तोड़ के साथ अपना प्रचार शुरू कर दिया है। सभी ने वोटरों को लुभाने का काम भी शुरू कर दिया है।

शासन ने वार्ड आरक्षण की सूची भी जारी कर दी है, जिससे भावी प्रत्याशियों में और तेज़ी आ गई है। इसी कड़ी में आज दैनिक भास्कर की टीम ने झालू नगर पंचायत के लोगो से चुनाव पर चर्चा की और शहर में हुए विकास व आने वाले निकाय चुनाव में उनकी राय जानी।

पीने की समस्या सबसे ज्यादा रही

बिजनौर की झालू नगर पंचायत के रहने वाले मोहम्मद असलम, जीशान अहमद, मोहम्मद रज़ी, मोहम्मद आमिर, मोहम्मद शावेज़, मोहम्मद शहजाद, मोनिस, मोहम्मद कैफ, अहमद शेख, जुनेद फैजान, मोहम्मद इस्माइल, आदि लोगों से नगर निकाय चुनाव के बारे में उनकी राय जानी तो यहां के रहने वाले लोगों ने क्षेत्र में पीने के साफ पानी की सबसे ज़्यादा समस्या बताई। वहीं इस बार चुनाव में लोगों की मिलीजुली प्रतिक्रिया देखने को मिली है। कुछ लोगों ने बदलाव की बात कही तो कुछ ने वर्तमान चेयरमैन पर ही विश्वास जताया।

रेलवे स्टेशन का मुद्दा भी खूब उठा

यहां के रहने वाले लोगों ने पीने के लिए साफ पानी और तालाब का गंदा पानी व रेलवे स्टेशन के विकास का मुद्दा ही मुख्य देखने को मिला। यहां के रहने वाले मोहम्मद असलम ने पीने के लिए साफ पानी नहीं आने की बात कही। वहीं तालाब के सौंदर्यीकरण नहीं होने की भी बात कही है। साथ ही झालू में पांच साल में किसी बड़े विकास नहीं होने के बाद कही। जीशान अहमद का कहना है क्षेत्र में गंदगी बहुत है बदबू बहुत आ रही है। इन्होंने चेयरमैन के काम पर विश्वास जताते हुए ठीक बताया।

इस बार बदलाव की भी बात उठी

साथ ही यहां के रहने वाले मोहम्मद रज़ी का कहना है कि चेयरमैन ने शहर में विकास कराया है और साफ-सफाई भी बढ़िया होती है। मोहम्मद आमिर का कहना है चेयरमैन पद के प्रत्याशियों ने झालू को डवलप कराने के लिए बहुत वादे किए थे। आमवाले तालाब का सौंदर्यीकरण की बात कही थी और रेलवे स्टेशन के सौंदर्यीकरण के साथ कई अन्य विकास की बात कही थी। लेकिन, कोई विकास नहीं हो पाया। इस बार बदलाव होगा और इस बार नया चेहरा ही चेयरमैन बनने की बात कही।

कईयों ने चेयरमैन के वापसी की उम्मीद जतायी

मोहम्मद जावेद ने सड़कों का मुद्दा उठाया और सड़कें नहीं बनने की बात कही साथ ही साफ सफाई को ठीक बताया। इसके अलावा मोहम्मद फैजान, मोनिस, आदि कई लोगों ने स्ट्रीट लाइट, पीने का साफ पानी, और विकास नहीं होने की बात कही। इस बार नए चेहरे पर विश्वास जताते हुए बदलाव की बात कही।

खबरें और भी हैं...