बाइक पर पति संग बैठी महिला से लूट, गिरकर मौत:बिजनौर में बाइक से घर जा रहा था कपल, रास्ते में बदमाशों ने महिला के कान से बाली नोची

बिजनौर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। शिकायत के बाद पुलिस अब बदमाशों की तलाश कर रही है।   - Dainik Bhaskar
सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। शिकायत के बाद पुलिस अब बदमाशों की तलाश कर रही है।  

बिजनौर के स्योहारा में देर रात लूटपाट की वजह से चलती बाइक से गिरी महिला की इलाज के दौरान मौत हो गयी। परिजनों का आरोप है कि चलती बाइक पर अज्ञात बदमाशों ने महिला के कानों से बाली छीनी। छीना झपटी में बाइक से गिरकर महिला की मौत हो गयी है।

सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। शिकायत के बाद पुलिस अब बदमाशों की तलाश कर रही है।

बहनोई के घर से लौट रहा था कपल

लूटपाट का यह मामला बिजनौर के स्योहारा थाना क्षेत्र के ठाकुरद्वारा रोड का है। जहां देर रात गांव आहसनपुर थाना रेहड़ निवासी भूपेंद्र अपनी पत्नी संगीता के साथ स्योहारा से अपने बहनोई से मिलकर वापस अपने गांव जा रहा था। बताया जा रहा है कि जैसे ही वह उमरपुर के पास पहुंचा। कुछ बाइक सवार अज्ञात लोगो ने उसकी पत्नी के कानों से बाली छीनने लगा। उसकी वजह से संगीता बाइक से गिर गयी और उसके मुंह और नाक से खून आने। सिर में भी चोट लग गयी थी। पति ने जब थोड़ा आगे जाकर बाइक रोकी तो देखा पत्नी संगीता बेसुध हो गयी है।

ग्रामीणों की मदद से जब महिला सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंची तो वहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।
ग्रामीणों की मदद से जब महिला सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंची तो वहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।

चीख पुकार सुन गांव वाले पहुंचे

पति भूपेंद्र ने तुरंत मदद के लिए आवाज लगायी। गांव वालों ने जब चीखने चिल्लाने की आवाज सुनी तो निकल कर मौके पर पहुंचे। उनकी मदद से भूपेंद्र अपनी पत्नी को गांव में डॉक्टर को दिखाया तो उसने पत्नी की हालत को गंभीर बताया और हायर सेंटर ले जाने के लिए कह दिया। उमरपुर गांव के ग्रामीणों की मदद से जब महिला सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंची तो वहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। डॉक्टरों ने बताया इनकी मौत रास्ते में ही हो गयी थी।

गांव वालों ने जब चीखने चिल्लाने की आवाज सुनी तो निकल कर मौके पर पहुंचे।
गांव वालों ने जब चीखने चिल्लाने की आवाज सुनी तो निकल कर मौके पर पहुंचे।

पुलिस को है घटना पर शक

पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मामले की जांच में जुट गई है। इस मामले में एसपी डाक्टर धर्मवीर सिंह का कहना है कि घटना की जांच की जा रही है। परिजनों की तहरीर पर 304 का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। प्रथम दृष्टया घटना संदिग्ध प्रतीत हो रही है।

मृतका के 4 बच्चों के सिर से उठा गया मां का साया

जानकारी के मुताबिक़ संगीता हसनपुर में स्वास्थ्य विभाग में आशा कार्यकत्री के तौर पर काम कर रही थी। परिवार में पति के अलावा इसकी तीन बेटियां एक बेटा हैं। जिनमे सबसे बड़ी निप्पी की उम्र 19 वर्ष है, प्रियांशी की उम्र 16 और गरिमा की 13 वर्ष और बेटे वंश की उम्र 9 वर्ष है। बच्चों ने जब से मां की मौत की खबर सुनी है तब से उनका रो रो कर बुरा हाल है। जबकि भूपेंद्र को कुछ समझ नहीं आ रहा कि क्या करे।

खबरें और भी हैं...