बिजनौर में 24 घंटे की हड़ताल पर ई-रिक्शा चालक:स्कूटी में टक्कर लगने पर चालक की हुई थी पिटाई, आरोपी पर नहीं हुई कार्रवाई तो पुलिस के खिलाफ आक्रोश

बिजनौर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आरोपी पर कार्रवाई और सिविल लाइन चौकी इंचार्ज को लाइन हाजिर कराए जाने की मांग को लेकर गुरुवार सुबह 6 बजे से 24 घंटे तक ई रिक्शा चालक हड़ताल पर हैं। - Dainik Bhaskar
आरोपी पर कार्रवाई और सिविल लाइन चौकी इंचार्ज को लाइन हाजिर कराए जाने की मांग को लेकर गुरुवार सुबह 6 बजे से 24 घंटे तक ई रिक्शा चालक हड़ताल पर हैं।

बिजनौर में एक रिक्शा चालक के साथ मारपीट के मामले में कार्रवाई न होने से नाराज रिक्शा चालकों ने हड़ताल कर दी है। चालकों ने पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए दरोगा को लाइन हाज़िर कराए जाने की मांग उठाई है। उनका कहना है कि अगर मांग पूरी न हुई तो हड़ताल यूं ही जारी रहेगी।

मामला बिजनौर थाना कोतवाली शहर क्षेत्र का है। जहां के मोहल्ला बुखारा निवासी सोनू वर्मा मंगलवार को अपने ई रिक्शा से सवारी लेकर जजी चौराहे की तरफ जा रहा था। इसी दौरान उसका ई रिक्शा सामने से आ रही स्कूटी से टकरा गया।

स्कूटी से टकराने पर विवाद
आरोप है कि स्कूटी चालक आकाश राजपूत पुत्र देवेंद्र राजपूत ने रिक्शा चालक सोनू वर्मा से मारपीट कर दी और रिक्शा यूनियन के पदाधिकारियों को भी बुरा-भला कहा। रिक्शा चालक एकत्रित होकर शहर कोतवाली थाने पहुंचे और आरोपी के खिलाफ नामजद तहरीर दी।

पीड़ित ने बताया कि सिविल लाइन चौकी इंचार्ज योगेश ने आरोपी को थाने बुलवाया, लेकिन अपनी गलती मानने के बजाय आरोपी पुलिस के सामने ही उल्टे रिक्शा चालकों को धमकी देकर चला गया। आरोपी के रवैये व पुलिस के भेदभावपूर्ण तरीके से रिक्शा चालक आक्रोशित हैं।

वहीं, इस मामले में रिक्शा यूनियन के महामंत्री चेयरपर्सन पति शमशाद अंसारी का कहना है कि आरोपी पर कार्रवाई और सिविल लाइन चौकी इंचार्ज को लाइन हाजिर कराए जाने की मांग को लेकर गुरुवार को 24 घंटे तक ई रिक्शा चालक हड़ताल पर हैं।