बिजनौर डीएफओ पर गिरी गाज:निर्माण को लेकर विधायक प्रतिनिधि से हुआ था विवाद

बिजनौर2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

बिजनौर केहरिपुर के जंगल में निर्माण को लेकर एक तरफ जंहा बढ़ापुर विधायक और डीएफओ आमने सामने आ गए थे। डीएफओ ने विधायक प्रतिनिधि के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी ,जबकि ज़िले के विधायको ने सीएम दफ्तर में डीएफओ की शिकायत की थी आखिर कर आज डीएफओ अनिल पटेल पर गाज गिर गई है। उनकी जगह इटावा में तैनात अरुण कुमार को बिजनौर भेजा गया है।

अधिकारियों से कार्रवाई की मांग
दरअसल बिजनौर के अमानगढ़ रेंज स्थित केहरिपुर के जंगल में एक निर्माण को लेकर काफी दिन से विवाद चल रहा है। बिजनौर डीएफओ अनिल पटेल ने बढ़ापुर के विधायक सुशांत सिंह के निजी प्रतिनिधि पर अभद्रता का आरोप लगाते हुए जिले के अधिकारियों से कार्रवाई की मांग की थी। कार्रवाई नहीं होने पर डीएफओ शासन से शिकायत कर छुट्टी पर भेजे जाने की मांग की थी।

जिले के दो विधायक से हुआ था विवाद
साथ ही बिजनौर जिले के दो विधायक सदर विधायक सूची मौसम चौधरी बढ़ापुर के विधायक सुशांत सिंह ने भी शासन में डीएफओ की शिकायत कर कार्रवाई की मांग की थी। बुधवार की देर शाम शासन ने बिजनौर डीएफओ अनिल पटेल को हटा दिया है और उनकी जगह इटावा जंगल सफारी में तैनात अरुण कुमार को बिजनौर का डीएफओ बनाया कर भेजा है। साथ ही अनिल पटेल के पोस्टिंग कहां हुई है, यह जानकारी अभी स्पष्ट नहीं है।