डिबाई में गंगा अवतरण दिवस पर उमड़ा आस्था का सैलाब:हजारों श्रद्धालुओं ने गंगा में लगाई डुबकी, मां गंगा को चढ़ाया दूध

डिबाई9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

डिबाई तहसील के कर्णवास, राजघाट सहित अन्य घाटों पर गंगा प्राकट्य दिवस पर श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ा। दूरदराज क्षेत्रों से आए हजारों श्रद्धालुओं ने गंगा में आस्था की डुबकी लगाई। अनेकों गंगा भक्तों ने हर-हर गंगे के जयघोष के साथ मां गंगे में दूध चढ़ाया तथा विधि विधान से पूजा अर्चना की।

गंगा सप्तमी पर राजघाट गंगा तट पर विशेष मेले का आयोजन किया जाता है। प्रातः भोर से ही श्रद्धालुओं का गंगा घाटों पर जमावड़ा होना शुरू हो गया। भारी संख्या में पहुंचे श्रद्धालुओं ने हर हर गंगे के उद्घोष के साथ आस्था की डुबकी लगाई। तदोपरांत गंगा भक्तों ने पतित पावनी मोक्षदायिनी मां गंगे की स्तुति कर मन्नत मांगी।

इसके बाद गंगा स्नानार्थियो पुरोहितों से विभिन्न अनुष्ठान कराने के बाद गरीबो व साधु-संतों को भोजन वस्त्र आदि दान देकर पुण्य अर्जित किया। दूरदराज क्षेत्रों से आए गंगा भक्तों ने गंगा तटों पर हवन-यज्ञ के पश्चात भंडारे आदि किए।

पौराणिक ग्रंथों के अनुसार वैशाख शुक्ल सप्तमी के पावन दिन गंगा जी की उत्पत्ति हुई थी। इस कारण इस पवित्र तिथि को गंगा जयंती के रूप में मनाया जाता है। मान्यता है कि इस दिन गंगा में मनुष्य को स्नान करने से विशेष सात्विकता, प्रसन्नता और पुण्य लाभ होता है तथा मनुष्य के समस्त पापों का नाश हो जाता है।

खबरें और भी हैं...