मीट की दुकानें बंद कराने के लिए उठाई आवाज:एसडीएम से मिले हिंदू दल के पदाधिकारी, कहा-नवरात्रि में भक्तों को हो रही परेशानी

खुर्जा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

खुर्जा में शारदीय नवरात्र के दौरान सड़क के किनारे की मीट की दुकानों को बंद कराने की मांग की गई है। मंगलवार को हिंदू दल के पदाधिकारियों ने बैठक की। इसके बाद एसडीएम को ज्ञापन सौंप कर कार्रवाई की मांग की।

लोगों ने बताया कि नवरात्रि के दौरान मीट की दुकानों से लोगों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचती है। एसडीएम ने मामले में जल्द कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

सड़क किनारे पड़े रहते हैं मीट के टुकड़े

खुर्जा नगर में हिंदू दल के पदाधिकारियों ने बैठक की। बजरंग दल के नगर अध्यक्ष शशांक अग्रवाल ने बताया कि नवरात्र माह में सड़कों पर मौजूद मीट की दुकानें खुली हुई है। इससे सुबह के वक्त पूजा के लिए जाने वाले हिंदू समुदाय के लोगों की भावनाएं आहत हो रही हैं। दुकानों के किनारे मीट के टुकड़े पड़े रहते हैं, जिनको कुत्ते खाते रहते हैं। इसके अलावा मीट की खुली दुकानों से आती बदबू से भी काफी परेशानी होती है।

मीट की दुकानों को बंद कराने की मांग

बैठक के बाद हिंदू दल के तमाम पदाधिकारियों ने एकत्र होकर खुर्जा तहसील पहुंचकर एसडीएम खुर्जा लवी त्रिपाठी को ज्ञापन सौंपा। लोगों ने मीट की दुकानों को बंद कराने की मांग की। जल्द कार्रवाई न होने पर पदाधिकारियों ने आंदोलन की चेतावनी दी है।

हिंदू दल के पदाधिकारियों ने मीट की दुकानों को बंद करने की उठाई आवाज।
हिंदू दल के पदाधिकारियों ने मीट की दुकानों को बंद करने की उठाई आवाज।

एसडीएम ने बताया कि जल्द ही मीट की दुकानों को बंद करा दिया जाएगा। खुर्जा पुलिस को कार्रवाई के निर्देश दे दिए गए हैं। किसी भी हाल में हिंदू समुदाय की भावनाएं आहत नहीं होने दी जाएंगी।

खबरें और भी हैं...