खुर्जा में श्रीरामलीला में वन गमन यात्रा का हुआ मंचन:भगवान राम के संग मां सीता और लक्ष्मण भी चले, मंचन देखकर भक्त हुए भाव विभोर

खुर्जा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बुलंदशहर जिले के खुर्जा में चल रही श्री रामलीला में रविवार को वन गमन की यात्रा का मंचन किया गया। इस दौरान भगवान राम को राजतिलक की जगह 14 वर्ष का वनवास प्राप्त हुआ। भगवान राम के संग मां सीता और लक्ष्मण भी बनवास के लिए निकले। मंचन देखकर भक्त भाव विभोर हो उठे।

श्री रामलीला कमेटी ने रविवार को भगवान राम की वन गमन यात्रा का संजीव मंचन किया। इस दौरान राजगुरू और सभी माननीय से मंत्रणा करते हुए भगवान राम के राजतिलक की तैयारी की गई। लेकिन इस बीच मां शारदा को विचार आया की यदि भगवान श्री राम को वन गमन नहीं मिला तो वन में रहने वाले ऋषि मुनियों का उद्धार कैसे होगा।

कहा कि धरा पर बढ़ते दानवों के अत्याचार से मानव जाति की रक्षा कैसे होगी। उसी समय मां शारदे मां केकई के मस्तिष्क पर विराजमान हो गई। उनकी बुद्धि हर ली। इसके बाद भगवान राम के राज्याभिषेक की जगह बनवास जाने की तैयारियां होने लगी। इस दौरान मां सीता और लक्ष्मण को भी भगवान राम संग वन गमन के लिए जाते देख भक्त भावविभोर हो उठे।

वन गमन की यात्रा छोटी होली स्थित श्री गंगा मंदिर से प्रारंभ होकर गांधी रोड, जेवर अड्डा चौराहा से होते हुए जंक्शन रोड होते हुए रामलीला बाड़े तक पहुंची। यात्रा के दौरान कोतवाली पुलिस ने भी सुरक्षा के सख्त इंतजाम रखें। भगवान राम की वन गमन की यात्रा के दौरान रामलीला कमेटी के प्रधान नवीन गुप्ता,दीपक गर्ग, डीसी गुप्ता पुनीत साहनी,राम दिवाकर, योगेश मित्तल, आशीष गोयल मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...