खून के बदले खून का अंजाम थी डॉक्टर की हत्या:31 घाव का बदला था डॉक्टर के जिस्म में दागी गईं 31 गोलियां, दो दिन पहले दिन दहाड़े हुई थी डॉक्टर की हत्या

बुलंदशहर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बुलंदशहर जनपद के गुलावठी में हुए डॉक्टर हत्याकांड में अब रहस्य की परतें उधड़ती जा रही हैं। डॉक्टर के जिस्म में उतारी गईं 31 गोलियां यूं ही नहीं मारी गई। यह 31 गोलियां उन 31 घाव का नतीजा थीं, जो डॉक्टर के भाई ने कुछ माह पहले गांव के ही व्यक्ति को दी थीं। गुलावठी में हुई हत्या अब पुरानी रंजिश की तरफ जा रही है। घटना लगभग खुल चुकी है। पुलिस किसी भी वक्त घटना का खुलासा कर सकती है। हत्यारे बेनकाब हो चुके हैं, सिर्फ उन्हें पकड़ना बाकी है।

2 दिन पहले हुई थी डॉक्टर की हत्या

बुलंदशहर में रविवार की दोपहर 5 हमलावरों ने एक डॉक्टर मोहम्मद शादाब की गोली मारकर हत्या कर दी थी। आरोप है कि मरीज की तरह क्लीनिक में घुसे हमलावरों ने 24 राउंड फायरिंग की। इससे आसपास दहशत फैल गई। लोग अपनी दुकानें बंद कर भागने लगे थे। इसी बीच हमलावर मौके से फरार हो गए। पुलिस ने रविवार को 17 खोखे बरामद किए थे।

क्या है डॉक्टर के जिस्म में 31 गोलियों का रहस्य

गुलावठी में बदमाशों ने डॉक्टर शादाब पर 31 राउंड गोलियां दागी थीं। जब डॉक्टर की मौत पांच से सात राउंड गोलियों में ही हो गई तो फिर 31 राउंड उतारने का क्या उद्देश्य था। दरअसल, हापुड़ के कुराना गांव की आपसी रंजिश में शादाब की गोली मारकर हत्या की गई है। इसी गांव के एक व्यक्ति इरफान की हत्या कुछ माह पहले हुई थी। मृतक का सगा भाई इस हत्या में जेल में है। इरफान के शरीर पर 31 घाव करके उसकी हत्या की गई थी। अब शादाब के शरीर पर भी 31 गोलियां बरसाकर उसका बदला लिया गया है। मृतक मोहम्मद शादाब के भाई मोहम्मद अबरार पुत्र मुस्लिम ने रिपोर्ट में आसिफ पुत्र मुस्तफा, राजा पुत्र मुस्तफा, इमरान पुत्र यूनुस व अशरफी उर्फ सरफराज पुत्र यूनुस, निवासी गण ग्राम कुराना जिला हापुड़ को नामजद किया गया है।

जल्द गिरफ्तार होंगे आरोपी

एसएसपी सन्तोष कुमार सिंह का कहना है कि घटना पुरानी रंजिश से जुड़ी हुई है। हत्यारोपियों की लगभग पहचान कर ली गई है। जल्द ही सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...