'आयुर्वेद से रोक सकते हैं जन और धन हानि':बुलंदशहर में प्रसिद्ध चिकित्सक डॉ. हितेश ने आयुर्वेद के बारे में दी जानकारी

बुलंदशहर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रसिद्ध चिकित्सक डॉ. हितेश ने आयुर्वेद पर किया व्याख्यान। - Dainik Bhaskar
प्रसिद्ध चिकित्सक डॉ. हितेश ने आयुर्वेद पर किया व्याख्यान।

बुलंदशहर में अखिल भारतीय आयुर्वेद महासम्मेलन की राष्ट्रीय कार्यकारिणी एवं भारत सरकार के आयुष विभाग के तत्वावधान में तीन दिवसीय आयुर्वेद पर्व का आयोजन किया गया। प्रसिद्ध आयुर्वेद चिकित्सक और उत्तर प्रदेश से अखिल भारतीय आयुर्वेद महासम्मेलन के केंद्रीय संगठन मंत्री डॉ. हितेश कौशिक ने कार्यक्रम को संबोधित किया।

कार्यक्रम में आए हुए संपूर्ण भारतवर्ष के आयुर्वेद विशेषज्ञों को संबोधित करते हुए कहा कि जिस प्रकार से नए-नए रोग समाज में आ रहे हैं उसके लिए हम लोगों को अधिक से अधिक आयुर्वेद चिकित्सक तैयार करने होंगे। इससे रोगों को पैदा होने से पहले ही उन्हें रोका जा सके या जल्द से जल्द ठीक किया जा सके।

जंगली महाराज आश्रम शिर्डी में आयोजन
इससे जनहानि एवं धन हानि को रोका जा सकेगा। वैद्य हितेश कौशिक ने कहा कि इसके लिए आयुर्वेद कॉलेजों के विद्यार्थियों एवं चिकित्सकों के लिए समय-समय पर गंभीर रोगों पर कार्यशाला एवं सेमिनार आदि का आयोजन किया जाएगा। आयुर्वेद पर्व का आयोजन जंगली महाराज आश्रम शिर्डी में किया गया।

कार्यक्रम में यह लोग रहे मौजूद
कार्यक्रम को राष्ट्रीय आयुर्वेद विद्यापीठ के अध्यक्ष पद्मभूषण वैद्य देवेंद्र त्रिगुणा, एनसीआईएसएम के डायरेक्टर डॉक्टर राकेश शर्मा, गुजरात आयुर्वेद यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर डॉ मुकुल पटेल, निखिल भारतवर्षीय आयुर्वेद विद्यापीठ के अध्यक्ष वैद्य ताराचंद शर्मा, अखिल भारतीय आयुर्वेद महासम्मेलन के महामंत्री डॉक्टर एसएन पांडे, महाराष्ट्र आयुर्वेद सम्मेलन के अध्यक्ष डॉक्टर रामदास आव्हाड, गुजरात आयुर्वेद सम्मेलन के अध्यक्ष डॉक्टर डीके शाह, विद्यापीठ महामंत्री डॉ बी बी शर्मा आदि ने भी सभा को संबोधित किया ।

खबरें और भी हैं...