बुलंदशहर में फसल बर्बाद होने पर किसानों ने किया प्रदर्शन:मुआवजे की मांग को लेकर कलेक्ट्रेट किया घेराव, बोले- मुआवजा नहीं मिला तो किसान बर्बाद हो जाएंगे

बुलंदशहर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बुलंदशहर में पिछले सात दिनों से पड़ रही मूसलाधार बारिश ने किसानों की धान की फसल को बर्बाद कर दिया है। बर्बाद फसल की मुआवजे की मांग को लेकर शनिवार को सैंकड़ों किसानों ने कलेक्ट्रेट का घेराव किया।

भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले किसानों ने कालाआम चौराहे से कलेक्ट्रेट तक मार्च किया। विरोध करते हुए कलेक्ट्रेट तक पहुंचे किसानों ने जमकर हंगामा किया। भाकियू कार्यकर्ताओं ने की धान की बर्बाद फसलों का सर्वे कराने की मांग की।

मांग को लेकर धरने पर बैठे
तीन सूत्रीय मांगों को लेकर भाकियू कार्यकर्ताओं ने सिटी मजिस्ट्रेट को ज्ञापन सौंपा। कार्यकर्ता कलेक्ट्रेटगेट पर अपनी मांगों को लेकर धरने पर बैठ गए। अधिकारियों द्वारा किसानों को सर्वे कराने का आश्वासन देने पर किसानों ने धरना समाप्त किया।

बर्बाद हो गए किसान- भाकियू
भाकियू नेता गुड्डू प्रधान ने कहा कि जिले में एक सप्ताह से हो रही लगातार बारिश ने जिले के किसानों को बर्बाद कर दिया है। उन्होंने बताया कि खेतों में पानी भर गया है। किसानों का धान पूरी तरह बर्बाद हो चुका है। यदि किसान को मुआवजा नहीं दिया गया तो किसान अगली फसल भी नहीं बो पायेगा।

खबरें और भी हैं...