बुलंदशहर में पॉलिटेक्निक कॉलेज की मनमानी:तंग आकर तीन छात्रों ने किया आत्महत्या का प्रयास, एक की गई जान; जांच टीम गठित

बुलंदशहर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बुलंदशहर के जहांगीराबाद स्थित जनता पॉलिटेक्निक कॉलेज प्रबंधन की मनमानी से तंग तीन छात्रों ने आत्महत्या का प्रयास किया। जिसमें एक छात्र की मौत हो गई। इस मामले में छात्रों का आक्रोश देखने को मिल रहा है। गुस्साए छात्रों ने सोमवार को कॉलेज के गेट के बाहर प्रबंधन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

गुस्साए छात्रों ने कॉलेज प्रबंधन पर अवैध वसूली का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया। छात्रों की मांग है कि कॉलेज प्रबंधक को तत्काल कुर्सी से हटाया जाए। इसके अलावा प्रिंसिपल को सस्पेंड किया जाए। डीएम चंद्रप्रकाश सिंह ने पहले ही मामले में कड़ी कार्रवाई करते हुए जांच टीम गठित की है।

कॉलेज के प्राचार्य पूरे मामले की जांच करेंगे
एडीएम प्रशासन डॉ. रविन्द्र कुमार की अध्यक्षता में डीआईओएस और सहकारी नगर पॉलिटेक्निक कॉलेज के प्राचार्य पूरे मामले की जांच करेंगे। यह कमेटी तीन दिन में अपनी रिपोर्ट जिलाधिकारी को सौंपेगी। जिसके बाद डीएम अग्रिम कार्रवाई करेंगे।

छात्रों के फेल होने का मामला
जहांगीराबाद के जनता पॉलिटेक्निक कॉलेज में इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियरिंग के छात्र हर्ष राघव, कुलदीप सिंह और तीन अन्य छात्रों को प्रेक्टिकल में अबसेन्ट दिखाकर फेल कर दिया गया। छात्रों का दावा है कि कॉलेज प्रबंधन प्रति प्रैक्टिकल 10 हजार रुपए वसूलता है। इन छात्रों द्वारा कॉलेज प्रबंधन को जब पैसे नहीं दिए गए तो इन्हें अबसेन्ट दिखाकर फेल कर दिया गया, जबकि यह सभी छात्र थ्योरेटिकल में पूरी तरह पास थे।

इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियरिंग के छात्र खुर्जा के धरपा निवासी हर्ष राघव ने कॉलेज प्रबंधन की इस मनमानी से तंग आकर आत्महत्या कर ली, जबकि नरेन्द्रपुर निवासी छात्र कुलदीप सिंह और एक अन्य छात्र को किसी प्रकार बचा लिया गया।

खुलेआम होता है वसूली का खेल
कॉलेज के एक छात्र ने बताया कि कॉलेज प्रबंधन प्रैक्टिकल में पास करने के नाम पर 10-10 हजार रुपये की वसूली एक प्रैक्टिकल पर करता है। यह मनमानी खुलेआम की जाती है। छात्रों से खुलेआम वसूली का खेल होता है। न तो जिला प्रशासन का इस ओर कोई ध्यान है और न ही शिक्षा विभाग का।

डीएम ने कहा होगी कड़ी कार्रवाई
डीएम चंद्रप्रकाश सिंह ने बताया कि जांच टीम गठित कर दी गई है। एडीएम प्रशासन की अध्यक्षता में डीआईओएस और सहकारी नगर पोलटेक्निक कॉलेज के प्राचार्य इसकी जांच कर तीन दिन में अपनी रिपोर्ट देंगे। कॉलेज प्रबंधन के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...