बुलंदशहर में योगी के मंत्री के साले सपा-एनसीपी के कैंडिडेट:अनूपशहर सीट से मिला टिकट, रालोद पार्टी के दावेदारों के अरमानों पर फिरा पानी

बुलंदशहर/ गाजियाबाद4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अनूपशहर सीट से केके शर्मा लडे़ंगे चुनाव। - Dainik Bhaskar
अनूपशहर सीट से केके शर्मा लडे़ंगे चुनाव।

बुलंदशहर में अनूपशहर विधानसभा पर गठबंधन की तरफ से प्रत्याशी की घोषणा कर दी गई है। योगी सरकार में मंत्री और शिकारपुर विधायक अनिल शर्मा के साले और पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष केके शर्मा को मैदान में उतारा गया है। केके शर्मा पिछले करीब डेढ़ दशक से एनसीपी के साथ जुड़े हुए हैं।

रालोद का उतरा चेहरा

अनूपशहर विधानसभा से उन्हें टिकट मिलने से राजनीतिक पंडित भी हैरान हैं। इस सीट पर रालोद और सपा की तरफ से करीब दो दर्जन से अधिक दावेदार सक्रिय थे। ये सीट एनसीपी के खाते में जाने से रालोद पार्टी के दावेदारों का चेहरा उतर गया है।

विधानसभा क्षेत्र में सक्रिय भी नहीं थे केके शर्मा

पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष केके शर्मा को टिकट फाइनल होने पर सभी हैरान हैं। वो काफी समय से सक्रिय नहीं थे और न ही टिकट के दावेदारों में उनकी कहीं गिनती हो रही थी। माना जा रहा था कि जाट बाहुल्य होने के कारण इस पर रालोद का दावा रहेगा, लेकिन उनकी घोषणा ने सभी को चौंका दिया है।

पहले भी लड़ चुके हैं विधानसभा चुनाव

मूल रूप से शिकारपुर विधानसभा क्षेत्र के गांव चंदोक निवासी केके शर्मा साल 2002 का विधानसभा चुनाव भी एनसीपी के टिकट पर लड़ चुके हैं। एनसीपी का कम प्रभाव होने के बावजूद उन्हें करीब 16 हजार वोट मिले थे।

खबरें और भी हैं...