परिवार नियोजन में पुरुषों की भागीदारी बेहद जरूरी:बुलंदशहर में दो जुलाई तक आयोजित होगा सास-बहू-बेटा सम्मेलन, 126 प्रतिभागियों ने लिया भाग ​​​​​​​

बुलंदशहर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बुलंदशहर में परिवार नियोजन व जनसंख्या स्थिरीकरण में पुरुषों की भागीदारी बेहद अहम है। इसी संदेश को जन-जन तक पहुंचाने व परिवार नियोजन कार्यक्रमों को गति देने के लिए जनपद में दो जुलाई तक सास-बेटा-बहू सम्मेलन आयोजित किये जा रहे हैं। इसका उद्देश्य सास व बहू के मध्य परिवार नियोजन को लेकर समन्वय एवं संवाद स्थापित करना है।

कार्यक्रम को रुचिकर बनाने के लिए खेलों व अन्य गतिविधियों का सहारा लिया जाता है। कार्यक्रम का उद्देश्य प्रजनन स्वास्थ्य के प्रति अवधारणाओं, व्यवहार एवं विश्वास में बदलाव लाना है। इसी कड़ी में बृहस्पतिवार को जनपद के पहासू स्वास्थ्य उपकेंद्र सालाबाद और बनेल में सास-बहू-बेटा सम्मेलन का आयोजन किया गया।

सास- बहू- बेटा सम्मेलन का उद्देश्य सास-बहू और बेटे के मध्य समन्वय और संवाद को उनके पारस्परिक अनुभवों के आधार पर बेहतर बनाना है।
सास- बहू- बेटा सम्मेलन का उद्देश्य सास-बहू और बेटे के मध्य समन्वय और संवाद को उनके पारस्परिक अनुभवों के आधार पर बेहतर बनाना है।

बेटे का भी प्रतिभाग करना आवश्यक
अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. रोहताश यादव ने बताया -परिवार में लगभग सभी निर्णयों में पुरुषों की सहमति सर्वोपरि होती है। इसलिए सास-बहू सम्मेलन के दौरान पुरुषों की सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए बेटे का भी प्रतिभाग किया जाना आवश्यक है। सास- बहू- बेटा सम्मेलन का आयोजन उप केंद्र स्तर पर किया जा रहा है।

बहू- बेटा सम्मेलन का आयोजन किया गया। जिसमें परिवार नियोजन के बारे में विस्तार से जानकारी दी गयी।
बहू- बेटा सम्मेलन का आयोजन किया गया। जिसमें परिवार नियोजन के बारे में विस्तार से जानकारी दी गयी।

कार्यक्रम में 126 प्रतिभागियों ने भाग लिया
प्रत्येक उप केंद्र पर 10 से 12 आशा कार्यकर्ता तैनात होती हैं। इसलिए समस्त आशा कार्यकर्ताओं द्वारा सास- बहू- बेटा सम्मेलन का आयोजन किया जाना है। सालाबाद, बनेल स्वास्थ्य उपकेंद्र पर बुधवार को सास-बहू- बेटा सम्मेलन में प्रति आशा आठ से 10 परिवार से सास, बेटा व बहू सहित लगभग 126 प्रतिभागियों ने प्रतिभाग किया।

सास-बहू और बेटे के मध्य समन्वय ​​​​​​​
सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहासू के प्रभारी डा. मनोज कुमार ने बताया बुधवार को स्वास्थ्य उपकेंद्र सालाबाद और बनेल में सास- बहू-बेटा सम्मेलन का आयोजन किया गया। यूनिसेफ की मदद से आयोजित सम्मेलन में 126 लोगों ने शिरकत की। इन्हें परिवार नियोजन के बारे में विस्तार से जानकारी दी गयी। यूनिसेफ के बीएमसी परवेज ने बताया कि सास- बहू- बेटा सम्मेलन का उद्देश्य सास-बहू और बेटे के मध्य समन्वय और संवाद को उनके पारस्परिक अनुभवों के आधार पर बेहतर बनाना है, जिससे वह प्रजनन स्वास्थ्य के प्रति अपनी अवधारणाओं, व्यवहार व विश्वास में बदलाव ला सकें।