सिकंदराबाद में मूसलाधार बारिश का कहर:नाला कटने से 100 बीघा धान डूबी, शिकायत के बावजूद प्रशासन मूकदर्शक, मुआवजे की मांग

सिकंदराबाद2 महीने पहले

सिकंदराबाद के औद्योगिक क्षेत्र के गांव रजपुरा में नाला कटने से धान की 100 बीघा फसल डूब गई। जिससे किसानों को बहुत बड़ा नुकसान हुआ है। किसानों का आरोप है कि प्रशासन और यूपीआईडीसी के अधिकारियों को कई बार शिकायत की, लेकिन कोई समाधान नहीं हुआ। किसानों में प्रशासन के खिलाफ रोष है। किसानों ने प्रशासन से उचित मुआवजे की मांग की है।

कई किसानों की फसल डूबी

सिकंदराबाद के औद्योगिक क्षेत्र में गांव रजपुरा मैं नाला काटने और पटरी से पानी उतरने से 100 बीघा धान की फसल डूब गई, जिससे किसानों में रोष है। किसान वीर सिंह भाटी ने बताया उसकी 12 बीघे, रविंद्र प्रधान की 14 बीघा, शेख भाटी 6 बीघा, जयपाल की 4 बीघा ,बाबू की 4 बीघा, पप्पू की 3 बीघा समेत करीब 100 बीघा धान की फसल डूब गई। जिससे किसानों को बहुत बड़ा नुकसान हुआ।

पीड़ित किसान जिन्होंने फसल डूबने पर सरकार से मुआवजे की गुहार लगाई है।
पीड़ित किसान जिन्होंने फसल डूबने पर सरकार से मुआवजे की गुहार लगाई है।

शिकायत के बावजूद नहीं हुआ समाधान

किसानों का आरोप है कि कई बार प्रशासन से शिकायत करने के बाद भी कोई समाधान नहीं हुआ। वही किसानों का प्रशासन के खिलाफ रोष है। किसानों ने मुआवजे की मांग की है। किसानों का कहना है कि यदि प्रशासन भी सुन लेता तो उनकी फसल नहीं डूबती। वहीं एसडीएम राकेश कुमार का कहना है कि संबंधित अधिकारियों को मौके पर भेजकर नुकसान होने पर मुआवजा दिलवाने की बात कही है।

खबरें और भी हैं...