चकिया में सामूहिक विवाह में नाबालिग की शादी का मामला:उप जिलाधिकारी ने दिए जांच के आदेश, बालिग बनाकर करा रहे थे शादी

चकिया2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

चकिया में नाबालिग लड़की के शादी के मामला सामने आया है। जिसको लेकर ज्वाइंट मजिस्ट्रेट प्रेम प्रकाश मीणा ने मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत एक नाबालिग लड़की का विवाह कराए जाने के मामले में स्कूल के जन्मतिथि और कुटुंब रजिस्टर में पंजीकृत रिकार्ड के अनुसार जांच का आदेश जारी कर दिया। वहीं दोनों रिकॉर्ड में भिन्नता पाए जाने के साथ ही साथ परिवार कुटुंब रजिस्टर में जन्मतिथि तिथि के उल्लेख में ओवर राइटिंग किए जाने के बाद जांच आख्या जल्द ही प्रस्तुत किए जाने हेतु अधोहस्ताक्षरी को निर्देशित किया है।

चकिया उपजिलाधिकारी ने मामले को संज्ञान में लेते हुए जांच के आदेश दिए
वहीं इस मामले में शिकायत किया गया कि जिस लड़की की शादी की गई थी वह नाबालिग है। कुटुंब रजिस्टर में अंकित जन्मतिथि में हेराफेरी कराकर नाबालिग को बालिग बना कर उसकी शादी कराई गई है। जब कि उक्त बालिका पुष्पा बीते सत्र में कक्षा आठवीं की छात्रा रही। वहीं उक्त पूरा मामला सोशल मीडिया में तेजी से वायरल होने के बाद चकिया उपजिलाधिकारी/ज्वाइंट मजिस्ट्रेट प्रेम प्रकाश मीणा ने संज्ञान में लेते हुए जांच कार्य शुरू की। ज्वाइंट मजिस्ट्रेट के जांच में पाया गया कि सुल्तानपुर गांव निवासी राजनाथ की पुत्री पुष्पा पूर्व माध्यमिक विद्यालय सुल्तानपुर की छात्रा रही है।

ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ने कहा- रजिस्टर में लिखी जन्मतिथि में ओवर राइटिंग है
वहीं इस पूरे मामले में ज्वाइंट मजिस्ट्रेट प्रेम प्रकाश मीणा ने बताया कि कुटुंब रजिस्टर में अंकित जन्मतिथि के उल्लेख में ओवर राइटिंग है जिसके लिए शहाबगंज खंड विकास अधिकारी को 2 दिनों के अंदर आख्या प्रस्तुत करने को निर्देशित किया गया है। जिसकी सूचना जिलाधिकारी चन्दौली संजीव सिंह, पुलिस अधीक्षक, मुख्य विकास अधिकारी, जिला समाज कल्याण अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी, अपर पुलिस अधीक्षक पुलिस, क्षेत्राधिकारी चकिया, प्रभारी निरीक्षक चकिया को प्रेषित कर दिया गया है। रिपोर्ट आने के बाद अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...