नौगढ़ में पीएम आवास योजना में लापरवाही आई सामने:किस्त मिलने के बाद भी नहीं कराया निर्माण, 16 गावों के लाभार्थियों को नोटिस जारी

नौगढ़11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नौगढ़ के पीएम आवास योजना के 96 लाभार्थियों पंचायत सचिवों ने भेजा नोटिस - Dainik Bhaskar
नौगढ़ के पीएम आवास योजना के 96 लाभार्थियों पंचायत सचिवों ने भेजा नोटिस

नौगढ़ में प्रधानमंत्री आवास योजना में भारी लापरवाही का मामला सामने आया है। जिसके चलते क्षेत्र के 16 गांवों के लगभग सात दर्जन लाभार्थियों को पंचायत सचिवों ने नोटिस भेजा है। इन्होंने योजना की किस्त मिलन के बाद भी आवास का निर्माण नहीं कराया था। इसमें बाघी, चुप्पेपुर, सोनवार, ठठवां, बोदलपुर, मगरही, देवरी कला,देवदत्तपुर, रिठिया, जय मोहनी, सेमर साधोपुर, बैरगाढ़,जरहर,चिकनी,मझंगाई आदि गांव के लाभार्थी शामिल है। इन पर मुकदमा दर्ज कराने की चेतावनी भी दी गई है।

बीडीओ ने कहा, सरकार की योजनाओं के धरातल पर उतारने सबकी

इस संबंध में खंड विकास अधिकारी सुदामा यादव ने कहा कि सरकार की इस महत्वाकांक्षी योजना में लाभार्थियों की ओर से घोर लापरवाही बरती जा रही थी। लाभार्थियों को योजना के तहत मिलने वाली किस्त लाभार्थियों के खाते में आ गई है। इसके बावजूद उन्होंने आवास का निर्माण नहीं कराया है। ऐसे करीब 96 लाभार्थियों को चिह्नित किया गयै है। जिन्हें पंचायत सचिव की ओर से नोटिस जारी किया गया है। इसके साथ ही नोटिस की अनदेखी करने पर मुकदमा दर्ज करना की चेतावनी भी दी गई है। उन्होंने कहा कि सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाओं को धरातल पर उतारने की जिम्मेदारी हम सबकी है।

284 आवास का निर्माण अभी भी अधूरा

बता दें कि पीएम आवास योजना के तहत लाभार्थियों को केंद्र सरकार की ओर से आवास निर्माण के लिए तीन किस्तों में 1.30 लाख रुपये दिए जाते हैं। नौगढ़ में वित्तीय वर्ष 2020 - 2021 में स्वीकृत 555 में से 284 आवास ऐसे हैं जो अभी अधूरे हैं। जिनमें 50 फीसद लाभार्थियों को किस्तों का भुगतान हो चुका है। इसके बावजूद अभी बहुत से आवास अपूर्ण है, जिसको लेकर कार्रवाई की गई है।

शौचायलय निर्माण के समय भी अनियमितता आई थी सामने

इससे पहले नौगढ़ क्षेत्र में शौचालय के निर्माण में भी भारी अनियमितता सामने आई थी। जिस पर विभाग के तरफ से जिम्मेदारों पर कार्रवाई भी हुई थी। हालांकि अब अधिकारी निर्माण कार्यों पर सचेत हैं,जिसको लेकर गांवों के उन लाभार्थियों को नोटिस जा रही है जिनका आवास अपूर्ण है।

खबरें और भी हैं...