चंदौली में धान खरीदी के लिए बने 33 क्रय केंद्र:किसानों से खरीदा जाएगा 2.35 लाख एमटी धान, ऑनलाइन करवाना होगा पंजीकरण

चंदौली8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
धान खरीदी के लिए बनाए गए 33 क्रय केंद्र। - Dainik Bhaskar
धान खरीदी के लिए बनाए गए 33 क्रय केंद्र।

चंदौली में किसानों से धान की खरीद के लिए 33 क्रय केंद्र बनाए गए हैं। अभी फसल तैयार नहीं होने से किसी भी केंद्र पर धान की आवक शून्य है। बताया जा रहा है कि नवंबर माह के दुसरे पखवारे में क्रय केंद्रों पर किसानों की चहल पहल शुरू हो जाएगी।

किसान टोकन लेने के लिए क्रय केंद्रों का चक्कर काट रहे हैं। जिले में किसानों से 2.35 लाख एमटी धान की खरीद सरकारी क्रय केंद्रों के माध्यम से होगी। इसके लिए 33 क्रय केंद्र बनाए गए हैं। सौ से अधिक केंद्र बनाने की प्रकिया लगभग पूरी हो चुकी है।

कई इलाकों में धान की फसल तैयार नही

केंद्रों पर प्रभारियों की तैनाती की प्रक्रिया पूरी हो गई है। हालांकि अभी तक केंद्रों से मिलों का संबद्धीकरण नहीं हो पाया है। हर बार की तरह इस बार भी छोटे किसानों को वरीयता दी गई है। शर्त यह होगी कि पहली बार किसान जिस केंद्र पर अपना धान बेचेंगे, दोबारा बिक्री के लिए वहीं ले जाना पड़ेगा। केंद्र प्रभारी के यहां पंजीयन फार्म जमा करने के बाद जारी किया जाएगा।

जिला विपणन अधिकारी अनूप श्रीवास्तव ने बताया कि जनपद के अधिकांश इलाकों में धान की फसल तैयार नहीं है। संभावना है कि नवंबर माह ‌के दूसरे पखवारे में केंद्रों पर धान की आवक शुरू हो जाएगी। केवल ऑनलाइन पंजीयन कराने वाले किसानों से ही धान की खरीद होगी।

इन केंद्रों पर होगी धान की खरीद

धान की खरीद के लिए खाद्य विभाग के 15, पीसीएफ के 15, कृषि उत्पादन मंडी समिति का एक और एफसीआई के दो केंद्रों पर होगी। जो सदर, सैयदराजा, सिकठा, मुगलसराय, पांडेयपुर, सकलडीहा, महेशुआ, चहनिया, धानापुर, अवही, चकिया, गौरी(उतरौत), शहाबगंज, सैदूपुर, नौगढ़, कांटा, बबुरी, छतेम, डिग्घी, टांडाकला, मारुफपुर, कैलावर, सेवड़ी, नादी, एवती, कमालपुर, ढ़ोढ़िया, सिकंदरपुर, बरवाडीह, मंडी समिति और भोजापुर में संचालित होगी।