सभी न्याय पंचायत में बनेगी गोशाला-डीएम:भूसा कलेक्शन में सुस्ती पर जताई नाराजगी, बोले- लापरवाही बर्दाश्त नहीं

चंदौली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

चंदौली के कलेक्ट्रेट में बुधवार को जिलाधिकारी संजीव सिंह ने गोशालाओं के संचालन को लेकर अफसरों से बैठक की। उन्होंने अघधिकारियों से कमियों को दूर करने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि हर न्याय पंचायत गोशाला बनाए जाएंगे। ऐसे में अफसर खाली जमीन चिन्हित करके तत्काल रिपोर्ट प्रस्तुत करें। इसके साथ ही संरक्षित पशुओं के लिए हरा चारा बुआई के लिए जोर दिया। चेताया कि शासन की महत्वपूर्ण योजना के संचालन में खामी मिलने पर संबंधित की जवाबदेही तय होगी।

डीएम ने अधिकारियों के साथ की बैठक।
डीएम ने अधिकारियों के साथ की बैठक।

भूसा कलेक्शन पर जोर दें अधिकारी
डीएम ने कहा, "ब्लॉक स्तरीय बड़े गोवंश आश्रय स्थलों के निर्माण के लिए शासन आदेश मिला है। अफसर जल्द जमीन चिन्हित करके निर्माण कार्य के लिए प्रस्ताव भेंजे। उन्होंने मुख्यमंत्री सहभागिता योजना के तहत निराश्रित पशु रखने वाले किसानों के खाते में 10 जुलाई तक भुगतान करने का निर्देश दिया। उन्होंने भूसा कलेक्शन को ढिलाई पर नाराजगी जताई और कहा कि बीडीओ को अधिक से अधिक भूसा कलेक्शन कराने पर जोर देना चाहिए।

भूसा कलेक्शन में ढिलाई पर जताई नराजगी।
भूसा कलेक्शन में ढिलाई पर जताई नराजगी।

गोशालाओं को नियमित दौरा करें अधिकारी
डीएम संजीव सिंह ने कहा, "बीमार पशुओं के इलाज और दवाइयों का पर्याप्त प्रबंध करें। नोडल अफसरों और पशु चिकित्सा अधिकारियों को जिम्मेदारी देते हुए कहा कि गोवंश आश्रय स्थलों का नियमित दौरा करके व्यवस्थाओं का निरीक्षण करें, ताकि पशुओं के लिए पर्याप्त चारा, पानी, शेड, सुरक्षा के साथ ही समस्त व्यवस्थाएं मुकम्मल रहे। बैठक में सीडीओ अजितेंद्र नारायण, सीवीओ डा. एके वैश्य, एसडीएम अविनाश कुमार, मनोज पाठक, डा. महेश आदि मौजूद रहे।"

खबरें और भी हैं...