भुर्जी और भड़भूजा को मिलेगी निःशुल्क पापकार्न मशीन:चंदौली में रोजगार के लिए मिलेगा अवसर, पहले आवेदन करने पर ज्यादा लाभ

चंदौली4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

चंदौली जिले में पिछड़ा वर्ग में आने वाले भुर्जी, भड़भूजा जाति या अन्य किसी जाति के लोगों को रोजगार के लिए निःशुल्क पापकार्न मशीन वितरित किया जाएगा। हालांकि अन्य वर्ग के अभ्यर्थी भी इसके लिए आवेदन कर सकते हैं, लेकिन पहले भुर्जी, भड़भूजा जाति के अभ्यर्थियों को वरीयता दी जाएगी। शासन की योजना लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने में काफी लाभप्रद साबित होने की उम्मीद है।

आपको बता दें कि यूपी खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड की ओर से पिछड़े वर्ग के भुर्जी जाति व अन्य जाति के परंपरागत कारीगरों को आधुनिक पापकार्न मेकिंग मशीन निःशुल्क वितरित कर स्वरोजगार उपलब्ध कराने का निर्णय लिया गया है। हालांकि शासन की ओर से लक्ष्य निर्धारित नहीं है। ऐसे में पहले आवेदन करने वालों का चयन होगा।

आवेदन की शर्तें और पात्रता

दाना भूनकर बेचने वाले भुर्जी और भड़भूजा समुदाय के लोगों को पापकार्न देकर उनके रोजगार को आधूनिक बनाने की योजना है। इसके लिए आवेदक को खादी ग्रामोद्योग विभाग में आधार कार्ड, राशन कार्ड, शैक्षिक योग्यता, प्रधान का निवास प्रमाण व संस्तुति पत्र, बैंक खाता की प्रमाणित प्रति, सक्षम अधिकारी द्वारा निर्गत जाति प्रमाण पत्र के साथ आवेदन करना होगा।

रोजगार के नए अवसर मिलेंगे

मुख्य विकास अधिकारी अजितेंद्र नारायण ने बताया कि खासकर भुर्जी और भड़भूजा जाति के लोगों की आर्थिक स्थिती बहुत सुदृण नहीं होती। ऐसे में शासन से उन्हे निःशुल्क पापकार्न मशीन देने का लक्ष्य मिला है। आवेदन करने के बाद सत्यापन कराया जाएगा। इसके बाद लाभार्थी को पापकार्न मशीन का वितरण ‌होगा। नौ मई के बाद पापकार्न के संबंधित आवेदनों पर विचार नहीं किया जाएगा। ऐसे जरुरतमंद तत्काल आवेदन करें।

खबरें और भी हैं...