चंदौली...पूर्व सपा जिला अध्यक्ष समेत तीन को भेजा गया जेल:विधायक हुए अंडरग्राउंड, 5 दिसंबर को सीएम से मिलने जा रहे थे, तभी हुआ था पुलिस से बवाल

चंदौलीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सपा नेता बोले पुलिस हमें प्रताड़ित कर रही है। - Dainik Bhaskar
सपा नेता बोले पुलिस हमें प्रताड़ित कर रही है।

चंदौली में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कार्यक्रम में जाने के लिए बवाल करने वाले सपाइयों की गिरफ्तारी शुरू हो गई है। बलुआ थाने की पुलिस ने मंगलवार को समाजवादी पार्टी के पूर्व जिलाध्यक्ष सहित चार सपा कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया।

अन्य लोगों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है। इसी मामले में मुख्य आरोपी सपा के विधायक प्रभुनारायन सिंह यादव दो दिनों से गायब हैं।

पुलिस ने सपाइयों को रोक लिया था

5 दिसंबर को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रामगढ़ स्थित बाबा कीनाराम की जन्मस्थली रामगढ़ में एक जनसभा को संबोधित करने के लिए आए थे। इसी बीच सपा कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री से मिलने के लिए चाहनिया से रामगढ़ के लिए कूच कर दिया। रास्ते में सकलडीहा क्षेत्राधिकारी अनिरुद्ध सिंह ने सपा कार्यकर्ताओं को रोक लिया था।

पुलिस के साथ हुई थी बहस

सपा कार्यकर्ता नहीं माने और सीओ के सा‌थ पुलिस कर्मियों पर टूट पड़े। इस दौरान सकलडीहा विधायक प्रभु नारायण सिंह यादव और सीओ अनिरुद्ध सिंह के बीच जमकर बहस हुई। इतना ही नहीं सपाइयों ने सीओ की गिरेबान में हाथ डालकर उनके सिर को अपने सिर से कई बार लड़ाया।

150 लोगों के खिलाफ केस दर्ज

मामले में जनपद की पुलिस ने विधायक प्रभु नारायण सिंह यादव और संतोष यादव के खिलाफ नामजद और डेढ़ सौ अज्ञात सपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। सोमवार की शाम से ही कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार दबिश दे रही है।

मंगलवार की सुबह पुलिस ने समाजवादी पार्टी के पूर्व जिलाध्यक्ष बलराम सिंह यादव, परेवा निवासी सदानंद सिंह यादव, परेवा के परमहंस यादव और खंडवारी गांव के राहुल चौहान को गिरफ्तार करके विभिन्न धाराओं में जेल भेज दिया।

पुलिस सपा के नेताओं को प्रताड़ित कर रही है

मामले में सपा के राष्ट्रीय सचिव और पूर्व विधायक मनोज सिंह डब्लू ने कहा कि चहनिया क्षेत्र में जो भी हुआ उसमें पुलिस की भी गलती है। उसके बाद भी सपा कार्यकर्ताओं को पुलिस प्रताड़ित कर रही है। सपा ने पहले ही चहनिया में आंदोलन करने की घोषणा की थी। लेकिन पुलिस के एजेंसियों के पास सटिक सूचना नहीं थी।

जनता के मुद्दे को लेकर सपा के नेता सीएम से मिलने जा रहे थे। कोई अपने घर की समस्या का निदान कराने नहीं जा रहे थे। पुलिस अपनी नाकामियों को सपा कार्यकर्ताओं पर लाद रही है।

जिले में कम नहीं हो रही समस्याएं

पूर्व सांसद रामकिशुन यादव ने कहा कि एसपी से घटना के संबंध में चर्चा की। उन्होंने घटना के कारणो के बारे में बताया। साथ ही गिरफ्तारियों पर रोक लगाने की मांग की। उन्होंने कहा कि जिले में खाद, सड़क और धान खरीद की समस्या है। जिले में चार बार सीएम योगी आदित्यनाथ का आगमन हो चुका है। लेकिन फिर भी समस्याओं का हल नहीं निकल पाया है।