प्रयागराज के बसों का रूट सीतापुर कराने को लिखा पत्र:बुंदेली सेना बोली-यात्रियों को करना पड़ता है परेशानियों का सामना, शुरू हो वर्कशॉप

चित्रकूट2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बुंदेली सेना ने प्रयागराज के बसों का रूट सीतापुर कराने कर मांग उठाई है। उन्होंने परिवहन मंत्री को पत्र भेजा है। - Dainik Bhaskar
बुंदेली सेना ने प्रयागराज के बसों का रूट सीतापुर कराने कर मांग उठाई है। उन्होंने परिवहन मंत्री को पत्र भेजा है।

चित्रकूट परिवहन मंत्री को पत्र भेजकर बुंदेली सेना ने बांदा और प्रयागराज की ओर से आने वाली बसों का संचालन सीतापुर होकर किए जाने की मांग की है l बताया कि धर्मनगरी के तीर्थ यात्रियों को सीतापुर तक बस न जाने से असुविधा का सामना करना पड़ता है l

बुंदेली सेना के जिलाध्यक्ष अजीत सिंह ने बताया कि पहले बसों का आवागमन सीतापुर होकर ही था l तीर्थनगरी आने वाले यात्री सीतापुर में उतर कर आसानी से गंतव्य तक पहुंच जाते थे l अब इस समय कोई भी बस सीतापुर होकर नहीं जाती l जबकि शिव रामपुर से सीधे सीतापुर होकर बस अड्डा बेड़ी पुलिया और प्रयागराज की बस के लिए सीतापुर होकर शिव रामपुर निकलने का बढ़िया व सुगम रास्ता है l पूरी बसें भले ही सीतापुर होकर न भेजी जाएं, लेकिन दोनों रूटों की आधी -आधी बसें धर्मनगरी होकर ही चलाने की जरूरत है l

बुंदेली सेना बोली-स्टैंड बनकर रह गया है बस अड्डा

बुंदेली सेना ने परिवहन मंत्री को पत्र भेजकर बसों का संचालन सीतापुर होकर किए जाने की मांग की l साथ ही रोडवेज बस अड्डा बेड़ी पुलिया में जल्द से जल्द वर्कशॉप शुरू कराए जाने का भी अनुरोध किया l बताया कि वर्क शाप शुरू न होने से बस अड्डा केवल बस स्टैंड बनकर रह गया है l तत्कालीन सपा सरकार में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने 90 नई बसों का बेड़ा भी चित्रकूट डिपो को दिया था l उस समय तक यहां का बस अड्डा नहीं बना था इसलिए बसें बांदा और हमीरपुर डिपो भेज दी गई थीं l यहां के बस अड्डा का वर्कशॉप शुरू हो जाए तो चित्रकूट डिपो की बसें संचालित होने लगेंगी l यहां से यूपी के साथ-साथ विभिन्न राज्यों की सीधी बस सेवा शुरू हो जाए l

खबरें और भी हैं...