चित्रकूट में तत्कालीन एसपी के खिलाफ केस दर्ज:डकैत गौरी गिरोह के सदस्य का किया था फर्जी एनकाउंटर, पहले भी कर चुके थे ऐसी कई घटनाएं

चित्रकूट12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
चित्रकूट में फर्जी एनकाउंटर में मारा गया बांलचंद। - Dainik Bhaskar
चित्रकूट में फर्जी एनकाउंटर में मारा गया बांलचंद।

चित्रकूट में तत्कालीन एसपी अंकित मित्तल के खिलाफ फर्जी एनकाउंटर के मामले में केस दर्ज हो गया है। डकैत गौरी के गिरोह के सदस्य को तारीख से वापस लाते समय रास्ते में जंगल में उसे गोली मार दी थी। इस मामले को विधायक ने कोर्ट में रखा था। जिसके बाद कोर्ट ने तत्कालीन एसपी समेत 15 लोगों के खिलाफ केस दर्ज करने के आदेश दिए हैं। पहले भी दो फर्जी एनकाउंटरों में उनका नाम आ चुका है। जिसमें से एक एनकाउंटर का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था।

25 हजार का इनामी बदमाश था बालचंद
जिले के बीहड़ों में साढ़े पांच लाख का इनामी डकैत था गौरी। उसके गिरोह का सदस्य था बालचंद। जिस पर पुलिस ने 25 हजार रुपए का इनाम रखा था। उसे पुलिस ने पकड़कर दस्यु संरक्षण में नया गांव जेल में बंद कर दिया था।

तारीख से लौटते वक्त हुआ एनकाउंटर
25 दिन पहले वह जेल से छूट गया था। वह 31 मार्च में कोर्ट में तारीख के लिए सतना गया हुआ था। वहां से वापस आते वक्त मजगामा के आगे यूपी पुलिस और एसटीएफ ने उसको पकड़ लिया। इसके बाद बहिलपुरवा थाना के जंगलों में ले जाकर उसको गोली मार दी गई। बाद में पुलिस ने इस पूरे प्रकरण को पुलिस एनकाउंटर दिखा दिया।

विधायक ने कोर्ट के सामने रखा मामला
इस मामले को चित्रकूट मध्य प्रदेश के विधायक नीलांशु चतुर्वेदी ने कोर्ट में रखा। विशेष न्यायाधीश दस्यु प्रभावित क्षेत्र चित्रकूट कोर्ट में एसपी अंकित मित्तल और एसटीएफ के पुलिसकर्मियों सहित 15 लोगों के खिलाफ केस दर्ज करने के आदेश दे दिए हैं। इस वक्त एसपी अंकित मित्तल रामपुर में तैनात हैं।

खबरें और भी हैं...