चित्रकूट में मनाया गया विश्व यज्ञ दिवस:गायत्री मंदिर में किया गया हवन, लोगों से हवन करने के लिए गायत्री परिवार ने की अपील

चित्रकूट3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लोगों ने यज्ञ में दी आहूति - Dainik Bhaskar
लोगों ने यज्ञ में दी आहूति

चित्रकूट सम्पूर्ण विश्व में विश्व यज्ञ दिवस के रूप में बुद्ध पूर्णिमा पर करोड़ों घरों में होता यज्ञ। गायत्री शक्तिपीठ नगर के तमाम घरों जनपद के करीब 9 हजार घरों में गायत्री यज्ञ रविवार को हुआ है। गायत्री परिवार के डॉक्टर राम नारायण त्रिपाठी ने बताया कि उत्तर प्रदेश में रखा था 24 लाख घरों में यज्ञ का लक्ष्य वैशाख महीना पूरे साल का पवित्र मास होता है। इस माह के अंतिम तीन दिन पुस्कर्णी नाम से जाने जाते है। इन तीन दिन त्रयोदसी चतुर्दशी पूर्णिमा में किया पुण्य गीता भागवत पाठ अश्वमेध के समान पुण्य देता है। यदि पूर्णिमा जिसे बुद्ध पूर्णिमा भी कहते है उस दिन विश्व में करोड़ों घरों में गायत्री यज्ञ सचमुच अश्वमेध जैसा फलदाई होगा।

सुबह 8 बजे से 11 बजे तक है मुहूर्त

उन्होंने कहा कमसे कम एक दिन तो पुण्य कर महीने भर का पुण्य लाभ लीजिए। करोड़ों कुण्डी यज्ञ तो असंभव है जो युगरिषि शांतिकुंज की प्रेरणा से संपूर्ण विश्व की गायत्री शक्तिपीठ आंचलिक केंद्र 15 मई को विश्व यज्ञ दिवस पर हर घर में संक्षिप्त विधि से हवन करने का सभी से आग्रह है। जो 15 को न कर सके 16 मई को करे। जिसका मुहूर्त सुबह 8बजे से 11 बजे के बीच है।

हवन करने की यह है विधि

24बार गायत्री मंत्र से 5बार महामृत्युंजय मंत्र से आहुति देने का साधारण सी प्रक्रिया में कर ले अथवा ऊपर दी गई संक्षिप्त हवन की विधि से करे। पर आहुति अवश्य डाले।सम्पूर्ण विश्व में करोड़ों घरों में एक साथ करोड़ों आहुतियां इस कालखंड में पड़ेगी। जो ऐतिहासिक प्रयोग भगवान राम के अश्वमेध श्रीकृष्ण के राजसूय यज्ञ जैसा विश्व पर्यावरण को सकारात्मक बना मनुष्य मात्र ही नहीं सभी जीवों के लिए कल्याणकारी होगा। समूह मन का जागरण हो विश्व कुंडलिनी का जागरण हो सकेगा। इस महा प्रयोग में आपकी भागीदारी आपके परिवार तथा आपके प्रगति में भी सकारात्मकता लाएगी। चूके नही हवन में 10 मिनट थोड़ी सामग्री या घी गुड़ मात्र से किसी बर्तन पर आग जलाकर आहुति विना किसी औपचारिकता के दे सकते।

खबरें और भी हैं...