भाटपाररानी में कान्हा ने किया कालिया नाग का मर्दन:कमल के फूल को नंद बाबा ने कंस तक पहुंचाया, रासलीला का मंचन देख भाव-विभाेर भक्त

भाटपाररानी, देवरिया3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फीता काटकर कार्यक्रम का शुभारंभ करते अतिथि। - Dainik Bhaskar
फीता काटकर कार्यक्रम का शुभारंभ करते अतिथि।

इंगुरी सराय स्थित श्री राम जानकी मन्दिर पर नौ दिवसीय श्री राम महायज्ञ एवं श्री हनुमत प्राण प्रतिष्ठात्मक कार्यक्रम के तीसरे दिन कालिया नाग के मर्दन की लीला का मंचन किया गया। गुरुवार रात वृंदावन के श्री राम कृष्ण रोहिणी रामलीला के संस्थापक ललित किशोर के निर्देशन में कलाकारों अपने अभिनय से सबका मनमोह लिया।

खेल-खेल में गेंद काे यमुना में फेंका

रासलीला के तीसरे दिन मुख्य अतिथि हरिचरण कुशवाहा ने फीता काट कर लीला का शुभारंभ किया। मंचन के दौरान दिखाया गया कि कंस ने कान्हा को मारने के लिए नंद बाबा से यमुना में से कमल के फूल की मांग की। कहा कि यदि कमल का फूल समय से नहीं मिला तो इसका परिणाम अच्छा नहीं होगा। यमुना में जिस स्थान पर कमल के फूल पाए जाते हैं। वहां एक विषधारी कालिया नाग निवास करता था। जब इस बात का पता कान्हा को लगा तो श्री कृष्ण ने एक योजना बनाई, जिसके अनुसार खेल-खेल में गेंद को यमुना में फेंक दिया जाता है।

कालिया नाग के मर्दन की लीला मंचन का दर्शकों ने उठाया आनंद।
कालिया नाग के मर्दन की लीला मंचन का दर्शकों ने उठाया आनंद।

कान्हा और कालिया नाग में युद्ध

वहीं ग्वाले इसी गेंद की मांग करते हैं। तब भगवान श्री कृष्ण यमुना में कूद जाते हैं। कान्हा के यमुना में कूद जाने का समाचार जब नंद बाबा और माता यशोदा को लगता है। तो वे काफी दुखी और चिंतित हो जाते हैं। गेंद के लिए यमुना में कूदे कान्हा की भेंट कालिया नाग से हो जाती है और दोनों में युद्ध होता है। अंत में कान्हा कालिया नाग का मान मर्दन कर उसका उद्धार करते हैं।

कंस का तोड़ा अभिमान

श्रीकृष्ण के आदेश पर कालिया नाग यमुना नदी को छोड़कर दूसरे स्थान पर चले जाते हैं। कमल के फूल को नंद बाबा राजा कंस के पास पहुंचा देते हैं। इस प्रकार भगवान श्रीकृष्ण ने कालिया नाग के मर्दन सहित कंस का भी अभिमान तोड़ दिया। रासलीला के इस मंचन को देखकर दर्शक भाव-विभोर हो जाते हैं।

ये लोग रहे मौजूद

इस मौके पर धर्मेंद्र कुशवाहा, प्रेम कुशवाहा, रणजीत खरवार, अनिल ठाकुर, राहुल सिंह, संदीप कुमार, विनोद कुशवाहा, राजकुमार गुप्ता, राजन पांडेय, नंदकिशोर सिंह, राजेन्द्र शर्मा, छोटेलाल कुशवाहा, अजीत जैन, पूर्व प्रधान सुधीर सतीश, बालगोविंद कैलाश रामसुरेश गौड़ आदि लोग मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...