लंपी बीमारी की रोकथाम के लिए पशुओं को लगेंगे टीके:बार्डर इलाके में टीकाकरण के लिए आई 30 हजार टीके की डोज

देवरिया19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
लंपी स्किन डिजीज संक्रमण से बचाने के लिए पशुपालन विभाग सतर्क है। - Dainik Bhaskar
लंपी स्किन डिजीज संक्रमण से बचाने के लिए पशुपालन विभाग सतर्क है।

देवरिया में गोवंशों को लंपी स्किन डिजीज संक्रमण से बचाने के लिए पशुपालन विभाग सतर्क है। इसके मद्देनजर कार्ययोजना तैयार की गई है। अन्य जिलों से जुड़े तथा बिहार बार्डर से जुड़े इलाके में दो किलोमीटर तक पशुओं का टीकाकरण किया जाएगा। इसके लिए टीमें गठित कर दी गई हैं। लंपी बीमारी की रोकथाम के लिए सोमवार से टीकाकरण अभियान शुरू होगा। इसे एक सप्ताह के अंदर पूरा कर लिया जाएगा।

कई प्रदेशों में महामारी का रुप ले चुका है लंपी
लंपी स्किन डिजीज का प्रकोप कई प्रदेशों में हैं। पशुओं में फैलने वाले संक्रमण को लेकर शासन व प्रशासन गंभीर है। इसकी रोकथाम के लिए जिले में संचालित सभी गो आश्रय स्थलों, गो संरक्षण केंद्रों, कान्हा गोशालाओं, पंजीकृत और अपंजीकृत गोशालाओं में टीकाकरण किया जाएगा। अन्य जिलों से जुड़े तथा बिहार बार्डर क्षेत्र से दो किलोमीटर के अंदर गोवंशीय, महिषवंशीय पशुओं का टीकाकरण किया जाएगा।

ब्लॉक वार सौंपी गई जिम्मेदारी

लंपी टीका के लिए जिलेे को तीस हजार डोज वैक्सीन प्राप्त हो गई है। प्रत्येक दिन चार हजार टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया है। इसके लिए टीमें गठित की गई हैं। ब्लॉक वार 16 डॉक्टरों और 102 कर्मचारियों को जिम्मेदारी सौंपी गई है।

इन्हें मिली है जिम्मेदारी
विकास खंड सदर में डॉ0 यादव राम सहाय राम सुमेर,गौरी बाजार में डॉ. सतीश कुमार, बैतालपुर में डॉ0 दिग्विजय यादव, रामपुर कारखाना में डॉ0 अशोक कुमार त्रिपाठी, तरकुलवा में डॉ. जितेंद्र कुमार चौहान, देसही देवरिया में डॉ. केपी सिंह, पथरदेवा में डॉ0 अशोक कुमार त्रिपाठी, रुद्रपुर में डॉ. रामधारी राम, बरहज में डॉ. राजेश मोहन, भागलपुर में डॉ. सुरेश यादव, लार में डॉ. नागेंद्र कुमार मिश्रा, भटनी में डॉ. सुनील कुमार, भाटपाररानी में डॉ.

सुशील कुमार, बनकटा में डॉ. राश्याम सिंह, सलेमपुर क्षेत्र के गोशाला मझौलीराज, कस्बा सलेमपुर, नगर पंचायत सलेमपुर, कोला महुई पांडेय के लिए डॉ. नागेंद्र कुमार मिश्रा, भलुअनी ब्लाक में गोशाला सोनाड़ी, खुखुंदू कांजी हाऊस में पशुओं के टीकाकरण के लिए डॉ. धोबी रौनक राजेश को जिम्मेदारी दी गई है। इनके साथ कर्मचारी तैनात किए गए हैं। टीकाकरण के प्रतिदिन की रिपोर्ट उप मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. श्याम नगीना राम को देनी होगी।

क्या कहा मुख्य पशु चिकित्साधिकारी ने
मुख्य पशु चिकित्साधिकारी पीएनसिंह ने बताया कि लंपी स्किन डिजीज की रोकथाम के लिए बिहार बार्डर तथा जिले के कुशीनगर, गोरखपुर, बलिया जिले के बार्डर से दो किमी तक पशुओं में टीकाकरण का कार्य किया जाएगा। इससे पशुओं में रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि होगी। टीकाकरण के लिए टीम गठित कर दी गई है। इसे एक सप्ताह में पूरा कर लिया जाएगा।