• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Deoria
  • Congress Demonstration In Deoria: Demonstration For Billions Of Rupees Trapped In Finance Companies, Memorandum Addressed To The President Handed Over To SDM Sadar

देवरिया में कांग्रेस का प्रदर्शन:फाइनेंस कंपनियों में फंसे अरबों रुपए के लिए दिया धरना, राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन एसडीएम सदर को सौंपा

देवरिया5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के निर्देश पर कांग्रेस नेताओं ने जिला मुख्यालय पर जोरदार प्रदर्शन किया। - Dainik Bhaskar
उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के निर्देश पर कांग्रेस नेताओं ने जिला मुख्यालय पर जोरदार प्रदर्शन किया।

देवरिया में कांग्रेस ने प्रदर्शन किया। सहारा इंडिया और पर्ल जैसी फाइनेंस कंपनियों में लोगों के अरबों रुपए फंसे है। इसको लेकर धरना दिया। साथ ही राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन एसडीएम सदर को सौंपा। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के निर्देश पर कांग्रेस नेताओं ने जिला मुख्यालय पर जोरदार प्रदर्शन किया।

जिलाध्यक्ष रामजी गिरि और प्रदेश सचिव कौशल त्रिपाठी के नेतृत्व में भारी तादाद में कार्यकर्ता टाउन हाल स्थित कांग्रेस कार्यालय पहुंचे। यहां से सुभाष चौक फिर सिविल लाइंस होते हुए एसडीएम सदर गजेन्द्र सिंह से मिलने पहुंचे। उन्हें राष्ट्रपति को संबोधित 6 सूत्रीय ज्ञापन सौंपा।

भाजपा को घेरा

रामजी गिरि ने कहा कि सहारा इंडिया एवं पर्ल जैसी फाइनेंस कंपनियों में बड़ी संख्या में गरीब और मध्यमवर्गीय परिवारों के अरबों रुपये फंसे हुए हैं, लेकिन भाजपा सरकार ने अभी तक इस पर संज्ञान नहीं लिया गया है। इस फर्जीवाड़े में उत्तर प्रदेश के कितने लोगों के पैसे फंसे हुए हैं, प्रदेश सरकार के पास इसकी भी जानकारी नहीं है।

95 सौ करोड़ रुपए फंसे

बाजार नियामक SEBI के अनुसार 21 मार्च 2021 तक पर्ल कंपनी द्वारा पीएसीएल के 127 लाख से अधिक निवेशकों के लूटे गए लगभग 10 हजार करोड़ में से अब तक केवल 438 करोड़ ही वापस मिल पाए हैं। इन आवेदकों के दावे ज्यादातर 10 हजार रुपए तक के ही हैं अभी भी इस कंपनी में लोगों का लगभग 95 सौ करोड़ रुपए फंसे पड़े हैं।

रुपयों का रिकॉर्ड नहीं

कौशल त्रिपाठी ने कहा कि सहारा ग्रुप ने अपनी दो कंपनियों SIRECL और SHICL के जरिए 225 करोड़ निवेशकों से करीब 24 हजार करोड़ रुपए जुटाए। इसके बाद इन पैसों का कैसे और कहां इस्तेमाल किया गया इसका कोई रिकॉर्ड नहीं है।

इन निवेशकों में से ज्यादातर निवेशक उत्तर प्रदेश के हैं जिन्होंने बेहतर रिटर्न के लिए पर्ल एवं सहारा में इन्वेस्ट किया, लेकिन आश्चर्य है कि हाईकोर्ट, सुप्रीम कोर्ट और सेबी के दखल के बाद भी अभी तक लोगों के हाथ खाली हैं।

यहां पर शहर कांग्रेस अध्यक्ष आनंद श्रीवास्तव सोनू, नौशाद अहमद खान, जयदीप त्रिपाठी, विजय शेखर मल्ल रोशन, आनंद देव गिरि, जुलेखा खातून आदि रहे।

खबरें और भी हैं...