देवरिया में लेखपाल व मुंशी कर लगा रिश्वतखोरी का आरोप:संपत्ति के कागजों में नाम दर्ज करने के लिए मांगे थे पैसे, डीएम ने की कार्रवाई

देवरिया13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
देवरिया में लेखपाल व मुंशी कर लगा रिश्वतखोरी का आरोप - Dainik Bhaskar
देवरिया में लेखपाल व मुंशी कर लगा रिश्वतखोरी का आरोप

देवरिया वरासत दर्ज करने में लापरवाही के एक मामले में कार्रवाई करते हुए जिलाधिकारी ने लेखपाल को चार्जशीट देने का निर्देश दिया है। साथ ही जिलाधिकारी के निर्देश के बाद 24 घन्टे के भीतर ही महिला का नाम वरासत में दर्ज हो गया है।

जनतादर्शन में डीएम ने की सुनवाई

जिले में 13 मई को जनता दर्शन में जिलाधिकारी को लिखे शिकायती पत्र में भटनी के ग्राम बरसाथ निवासिनी श्वेता वर्मा ने बताया कि उनके पिता की मृत्यु एक सड़क दुर्घटना में दिनांक 17 फ़रवरी 2021 को हुई थी। जिसके पश्चात वरासत में नाम दर्ज कराने के लिए उसने सलेमपुर तहसील में आवेदन किया था। अपने शिकायती पत्र में उसने लेखपाल आशुतोष शुक्ला व मुंशी कमलेश पर धन लेने का आरोप लगाया। धन लेने के बाद भी लेखपाल वरासत दर्ज करने में हिला-हवाली कर रहा था। जिलाधिकारी ने तत्काल मामले का संज्ञान लेते हुए तहसीलदार को वरासत में नाम दर्ज कराने के लिए निर्देश दिया। साथ ही आरोपी लेखपाल को चार्जशीट देने के साथ विभागीय कार्यवाही शुरू करने का निर्देश भी दिया।

दायित्वों का निर्वहन पूरी निष्ठा व सेवाभाव से करें

डीएम ने कहा कि तहसील स्तर पर तैनात सभी कर्मचारी अपने दायित्वों का निर्वहन पूरी निष्ठा व सेवाभाव से करें। आमजन के आवेदनों का नियमों के तहत समयबद्ध ढंग से करें। यदि किसी के खिलाफ भ्रष्टाचार की शिकायत मिली तो बख्शा नहीं जाएगा। उल्लेखनीय है कि जिलाधिकारी ने कुछ दिन पूर्व भी ग्राम समाधान दिवस पर नौनियापट्टी में वरासत दर्ज करने के प्रकरण में लापरवाही मिलने पर लेखपाल और कानूनगो के विरुद्ध कार्रवाई की थी।