देवरिया में मकान गिरा, परिवार के 3 लोगों की मौत:पति-पत्नी और 2 साल की बेटी की मलबे में दबकर जान गई, बुजुर्ग मां घायल

देवरिया11 दिन पहले

देवरिया में सोमवार तड़के 3 बजे जर्जर मकान गिरने से 3 लोगों की मौत हो गई है। मृतकों में दो साल की बेटी और उसके माता-पिता हैं। एक महिला को हल्की चोट आई। हादसा अंसारी रोड के पास का है। मौके पर SP संकल्प शर्मा, SDM सदर सौरभ सिंह और CO श्रीयश त्रिपाठी के नेतृत्व में पुलिस और फायर ब्रिगेड की टीम बचाव कार्य में लगी है।

सूचना पर पहुंची पुलिस और फायर ब्रिगेड की टीम ने रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया।
सूचना पर पहुंची पुलिस और फायर ब्रिगेड की टीम ने रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया।

किराए पर रहता था परिवार
मालवीय रोड पर कुलदीप बरनवाल का मकान है जो जर्जर हो चुका है। इसी मकान में दिलीप गोंड़ का परिवार किराए पर रहता था। सोमवार तड़के 3 बजे मकान का एक हिस्सा भरभराकर ढह गया। हादसे में दिलीप गोंड़ (35), उनकी पत्नी चांदनी (30) और दो साल की बेटी पायल की दबकर मौत हो गई। दिलीप गोंड़ की मां प्रभावती (65) उस समय किसी काम से उठी थीं, वह घर के बाहर आई थीं। इस वजह से उन्हें हल्की चोट आई। DM जितेंद्र प्रताप सिंह ने घटना स्थल का निरीक्षण किया। मृतक की मां प्रभावती से संवेदना जताई। कुल 12 लाख रुपए मुआवजे की घोषणा की।

  • घटनास्थल पर पहुंचे DM, वीडियो

मकान में और भी लोग किराए पर रहते हैं
हादसे की सूचना मिलते ही प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे। कई थानों की पुलिस और फायर ब्रिगेड की टीम ने रेस्क्यू शुरू किया। दबे 4 लोगों को बाहर निकाल कर हॉस्पिटल ले जाया गया। यहां डॉक्टरों ने दिलीप गोंड़, चांदनी और पायल को मृत घोषित कर दिया। मकान में और भी लोग मौजूद थे, लेकिन जिस तरफ दिलीप का परिवार रहता है, वही हिस्सा गिरा है। दिलीप लाइट-सजावट का काम करते थे।

मलबे में दबे लोगों को पुलिस और फायर ब्रिगेड की टीम ने रेस्क्यू कर निकाला। सभी को हॉस्पिटल ले जाया गया।
मलबे में दबे लोगों को पुलिस और फायर ब्रिगेड की टीम ने रेस्क्यू कर निकाला। सभी को हॉस्पिटल ले जाया गया।

100 साल पुराना है मकान
आसपास के लोगों का कहना है कि मकान लगभग सौ साल पुराना है। इसमें दिलीप का परिवार लगभग 50 साल से किराए पर रह रहा था। किरायेदारी को लेकर इन लोगों का मकान मालिक से कुछ विवाद भी चल रहा है। दिलीप लाइट-सजावट का काम तो उनकी पत्नी लोगों के घरों के काम देखती थी।

हादसे की सूचना पर लोगों की भीड़ जुट गई। मकान संकरी गली में होने के चलते रेस्क्यू में कुछ परेशानियों का भी सामना करना पड़ा।
हादसे की सूचना पर लोगों की भीड़ जुट गई। मकान संकरी गली में होने के चलते रेस्क्यू में कुछ परेशानियों का भी सामना करना पड़ा।

SP संकल्प शर्मा ने बताया कि हादसे के बाद तत्काल रेस्क्यू कर 4 लोगों को हॉस्पिटल ले जाया गया। जहां तीन लोगों को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। शवों का पोस्टमॉर्टम कराया जा रहा है।

यह वही मकान है जो गिरा है। तस्वीर में देख सकते हैं कि मकान काफी जर्जर हो चुका है। दरारें पड़ी हैं।
यह वही मकान है जो गिरा है। तस्वीर में देख सकते हैं कि मकान काफी जर्जर हो चुका है। दरारें पड़ी हैं।