देवरिया में छेड़खानी के आरोप में प्रिंसिपल निलंबित:छात्राएं बोली घर ले जाकर आरोपी करता है अभद्रता, पड़ोसी बोले- घर पर अक्सर आती हैं लड़कियां

देवरिया2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
देवरिया में छात्राओं ने की प्रिंसिपल के खिलाफ लिखित शिकायत - Dainik Bhaskar
देवरिया में छात्राओं ने की प्रिंसिपल के खिलाफ लिखित शिकायत

देवरिया नगर स्थित राजकीय महिला डिग्री कॉलेज की आधा दर्जन छात्राओं ने छेड़खानी की लिखित शिकायत कॉलेज प्रशासन से की है। जिसमें छात्राओं ने कॉलेज के प्राचार्य राजेश भारती पर आरोप लगाते हुए कहा कि यह छात्राओं को गलत तरीके से टच करते हैं। किसी बहाने से बुलाकर कॉलेज बंद होने के बाद छात्राओं को अपने आवास पर ले जाते हैं।

कॉलेज के प्राचार्य राजेश भारती का एक वीडियो वायरल हो रहा है। जिसमें वह अपने सरकारी आवास से अपनी गाड़ी में एक छात्रा को ले जाते दिख रहे हैं। जानकारी के मुताबिक प्राचार्य के पड़ोसियों ने बताया कि छात्राएं उनके आवास पर आती हैं और घंटों बाद यहां से जाती हैं। सभी ने एक स्वर में जांच कर प्रिंसिपल के ऊपर कार्यवाही करने की मांग की।

असिस्टेंट प्रोफेसर के सामने आरोपी ने मानी थी अपनी गलती

राजेश भारती कॉलेज के कार्यवाहक प्रिंसिपल हैं। कॉलेज में असिस्टेंट प्रोफेसर राखी भारती ने कहा कि मेरे पास शिकायत फरवरी में आई थी। छात्राओं ने कुछ वीडियो भी मुझे दिखाए थे। तब मैंने प्राचार्य सर से पूछा था। तब उन्होंने गलती स्वीकार की थी और कहा था कि आगे से ऐसा नहीं होगा। ऐसी गतिविधियों से कॉलेज का माहौल खराब हो रहा है। हम चाहते हैं कि कॉलेज का नाम न खराब हो। महिला प्रोफेसर ने बताया कि मेरे आने से पहले भी प्राचार्य की शिकायत होती रही है। लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।

पड़ोसी बोला- मैं सब कुछ अपनी आंखों से देखता हूं

वहीं कालेज के अंग्रेजी विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर महेश रावत का कहना है कि यह मामला सालों से चल रहा है। दर्जनों शिकायतें मेरे पास आ चुकी हैं। ऊपर के अधिकारियों के संज्ञान में मामला है पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। जब मैं कॉलेज में मिशन शक्ति का प्रभारी था तो दर्जनों छात्राओं ने शिकायत की थी। जब मैंने प्रिंसिपल साहब से की तो मुझे मिशन शक्ति के पद से हटा दिया गया। कॉलेज का कर्मचारी जो प्रिंसिपल का पड़ोसी भी हैं। उसका कहना था कि हम सब अपने आंखों से देखते हैं। इनके आवास पर लड़कियां आती हैं। घंटों रहती हैं अंदर क्या होता है यह हम लोगों को नहीं मालूम।

जांच के लिए गठित की गई कमेटी
आरोपों के बाबत क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी अश्वनी मिश्रा ने बताया कि उच्च शिक्षा निदेशक के आदेश से प्राचार्य को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। आरोपों की जांच के लिए खलीलाबाद के प्राचार्य डीपी सिंह के नेतृत्व में कमेटी गठित की गई है। सीनियर प्रोफेसर को प्राचार्य का चार्ज दिया गया है।