देवरिया में डीएम ने की डूडा के कार्यों की समीक्षा:कहा- बढ़ाया जाए डिजिटल लेनदेन, पीएम आवास योजना में लाभार्थियों के चयन में हो पारदर्शिता

देवरिया14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
डीएम ने अधिकारियों से की चर्चा - Dainik Bhaskar
डीएम ने अधिकारियों से की चर्चा

देवरिया के डीएम जितेंद्र प्रताप सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट स्थित कार्यालय में जिला नगरीय विकास अभिकरण (डूडा) के शासी निकाय की बैठक हुई। बैठक में पीएम स्वनिधि योजना की प्रभाव को बढाने के लिए आवश्यक दिशानिर्देश दिए।

5757 लोगों को उपलब्ध कराया गया लोन

पीएम स्वनिधि योजना के अंतर्गत जनपद में प्रथम लोन प्राप्त करने के 5373 लक्ष्य के सापेक्ष 5794 लोन स्वीकृत किए गए, जिसमें से 5757 लोगों को लोन उपलब्ध कराया गया है। प्रथम लोन के 37 मामले लंबित पाए गए, जिसे जिलाधिकारी ने लीड बैंक मैनेजर अरुणेश को प्राथमिकता के आधार पर सोमवार तक निस्तारित कराने का निर्देश दिया। पीएम स्वनिधि योजना के दूसरे लोन के लक्ष्य 1415 के सापेक्ष 982 आवेदन स्वीकृत किए गए और उनमें से 780 आवेदनकर्ताओं को बीस हजार रुपये का लोन प्रदान किया गया। जिलाधिकारी ने समस्त नगर निकायों और बैंकों को समन्वय स्थापित कर लोन के आवेदन को निस्तारित कराने का निर्देश दिया।

डीएम ने दी जरूरी जानकारी

डीएम ने बताया कि पीएम स्वनिधि योजना सरकार की एक महत्वाकांक्षी योजना है। जिसमें रेहड़ी पटरी विक्रेताओं को दस हजार रुपये का लोन दिया जाता है। प्रथम लोन चुकाने के बाद बैंक से एनओसी मिलती है, जिसके बाद बीस हजार रुपये के द्वितीय लोन के लिए आवेदन किया जा सकता है। यदि विक्रेता डिजिटल ट्रांजैक्शन करता है तो उसके द्वारा लिया गया लोन ब्याज मुक्त हो जाता है। डिजिटल साक्षरता बढ़ाने के लिए जागरूकता अभियान चलाने तथा नेहरू युवा केन्द्र के स्वयंसेवकों की सहायता लेने का निर्देश दिया।

प्राथमिकता के आधार पर दे पीएम आवास

डीएम ने प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना के तहत बेघर और झोपड़ी वालों को प्राथमिकता के आधार पर आवास उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि लाभार्थियों के चयन में पारदर्शिता बरती जाए। साथ ही समस्त अधिकारियों को चेतावनी भी दी कि यदि आवास वितरण में लाभार्थियों के चयन में किसी भी प्रकार की विसंगति या भ्रष्टाचार उनकी संज्ञान में आया तो कार्रवाई तय है। भ्रष्ट अधिकारियों और कर्मचारियों के विरुद्ध शासन की जीरो टॉलरेंस नीति के तहत कार्रवाई की जाएगी।

वेंडिंग जोन और नॉन वेंडिंग जोन बनाने का दिया निर्देश

डीएम ने सभी निकायों के अधिशासी अधिकारियों को वेंडिंग जोन और नॉन वेंडिंग जोन स्पष्ट करने का करने का निर्देश दिया। उन्होंने दीनदयाल अंत्योदय योजना, कौशल प्रशिक्षण, स्वयं सहायता समूह, स्वरोजगार योजना सहित विभिन्न योजनाओं की समीक्षा की। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी रवींद्र कुमार, अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) कुंवर पंकज, परियोजना अधिकारी डूडा विनोद कुमार मिश्रा, इओ नगर पालिका रोहित सिंह, विकास तिवारी, समाज कल्याण अधिकारी जैसवार लाल बहादुर सहित विभिन्न अधिकारी मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...