महंगाई की मार से परेशान रुद्रपुर निवासी:ग्रहणियां बोली- गैस सिलिंडर हुआ महंगा, रसोई संभालने में होगी परेशानी

रुद्रपुर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

महंगाई ने एक बार फिर सिर उठाना शुरू कर दिया है। रसोई गैस सिलिंडर के दाम 50 रुपये बढ़ गए हैं। इससे गृहिणयों के लिए किचन संभालना मुश्किल हो गया है। वहीं पेट्रोल और डीजल के दाम भी लगातार बढ़ने में लगे हैं। इसका असर भी महंगाई पर पड़ेगा।

रसोई गैस सिलिंडर मंगलवार को 50 रुपये महंगा हो गया इससे गृहणियां परेशान हो गई हैं। अब रसोई गैस का एक सिलिंडर 1015 रुपये का मिलेगा जो पहले 965 रुपये का दिया जा रहा था। रसोई गैस की बढ़ती कीमतों की वजह से गरीब से लेकर मध्यम वर्गीय परिवारों का बजट गड़बड़ाने लगा है। कोरोना की मार झेलकर उबरे लोगों को महंगाई की मार से भी जूझना पड़ रहा है। बीते 14 महीनों के आंकड़ों पर नजर डाली जाए तो पता चलता है कि घरेलू गैस सिलिंडरों पर यह आठवीं बार दाम बढ़ाए गए हैं। आठ बार में गैस के मूल्यों पर 256 रुपये की बढ़ोतरी हो गई है। जनवरी 2021 में जो घरेलू गैस सिलिंडर 712.5 रुपये का मिल रहा था वह अब एक हजार पांच रुपये का हो गया है।

रसोई गैस के दाम में बढ़ोत्तरी होने से रसोई घर का बजट बिगड़ गया है। जितना खर्च पहले एक माह में होता था उतने में अब 15 दिन का खर्च चलाना भी मुश्किलभरा हो गया है। दाम में बढ़ोत्तरी के बाद गैस सिलेंडर एक हजार के पार हो गया है।

रसोई गैस की कीमत में 50 रुपये की बढ़ोत्तरी किए जाने का सीधा असर किचन के खर्च पर पडेंगा। डीजल-पेट्रोल के दाम बढने पर ट्रांसपोर्ट खर्च पहले से ही बढ़ गया है। खाद्य पदार्थों के दाम पहले ही बढ़े हुए हैं। दाल, तेल, चीनी, आटा सबकुछ महंगा है।

सरकार को जैसे विधानसभा चुनावों के बीतने का इंतजार था। चुनाव बाद रसोई गैस महंगी होने की वजह से अब रसोई का बजट गड़बड़ाने लगा है। खाद्य तेलों के बाद अब रसोई गैस की कीमत बढ़ने पर रसोई के बजट को मैनेज करना मुश्किल हो रहा है।

खबरें और भी हैं...