रुद्रपुर में श्रीमद्भागवत कथा सुनने उमड़ी भीड़:सांसारिक आनन्द से ऊपर है श्रीमद्भागवत कथा - कथावाचक पं. राघवेंद्र शास्त्री

रुद्रपुर, देवरिया6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

तहसील क्षेत्र के ग्राम मठिया में श्रीमद्भागवत कथा के पहले दिन केरल से आए पंडित राघवेंद्र शास्त्री ने कहा कि बिना ज्ञान बिना वैराग्य के भक्ति अधूरी है। श्रीमद्भागवत कथा ज्ञान वैराग्य और भक्ति को पुष्ट करती है।

कथावाचक राघवेंद्र शास्त्री ने कहा कि जब मनुष्य दुर्बल हो जाता है तब समाज एवं देश दुर्बल हो जाता है। सत्संग ही एक माध्यम है जो हमारे विचारों को सुदृढ़ बना सकता है और दृढ़ बनाता है। श्री गोकर्ण जी ने इसी भागवत का श्रवण कराकर प्रेत को भगवत धाम की प्राप्ति कराई।

कथा में शामिल महिलाएं भजनों पर झूमती नजर आईं।
कथा में शामिल महिलाएं भजनों पर झूमती नजर आईं।

उन्होंने कहा कि श्रीमद्भागवत कथा सांसारिक आनन्द से ऊपर है । संतों की बात पर विश्‍वास करके हमें भी पूरी श्रद्धा, प्रेम से कथा सुननी चाहिए, जिससे हमारा भी भगवान से प्रेम हो जाए और नित्य आनन्द की प्राप्ति हो।

कथा सुनाते पंडित राघवेंद्र शास्त्री जी महाराज।
कथा सुनाते पंडित राघवेंद्र शास्त्री जी महाराज।

इस अवसर पर मुख्य रूप से राधिका देवी,सुभाष चन्द्र दुबे,सतीश दुबे,अजय दुबे वत्स,राकेश दुबे,शैलेंद्र दुबे,कृपाशंकर मिश्र,संजय चतुर्वेदी, अंकित त्रिवेदी एवम विष्णुधर द्विवेदी आदि लोग मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...