दबंगों ने रोकी दुल्हन की कार, दूल्हे को बनाया बंधक:36 घंटे तक कमरे में बंद करके रखा, एसडीएम ने गांव पहुंच कराई नवविवाहिता की विदाई

अलीगंज, एटा8 महीने पहले
अलीगंज में बारात बंधक बनाए जाने के बाद दुल्हन की नहीं हुई विदाई।

एटा में शादी समारोह में आतिशबाजी से बच्चे के झुलसने से गुस्साए दबंगों ने दुल्हन की कार को बीच रास्ते में घेर लिया। इसके बाद दुल्हन को वापस पिता के घर भेज दिया, जबकि दूल्हे और बारातियों को 36 घंटे तक बंधक बनाकर रखा। दूल्हा किसी तरह छूटकर पुलिस के पास पहुंचा और घटना की जानकारी दी।एसडीएम ने गांव पहुंच नवविवाहिता की विदाई कराई।

मामला जिले के अलीगंज के मोहल्ला छेदालाल गौड़ का है। यहां के मजदूर राजेंद्र कश्यप ने अपनी पुत्री ज्योति (20) की शादी मैनपुरी जिले के कोतवाली नगर के मोहल्ला गाड़ीवान निवासी राधेश्याम कश्यप के पुत्र पुष्पेंद्र उर्फ भोले के साथ तय की थी। युवक हलवाई है। 16 जून को गाजे-बाजे के साथ बारात आई। बैंडबाजे की धुन पर बाराती दुल्हन के दरवाजे पर पहुंचे। इस बीच लड़के पक्ष के कुछ लोग आतिशबाजी कर रहे थे, चिंगारी से मोहल्ले के कठेरिया समाज के शिवलाल के बच्चे का हाथ झुलस गया। इस पर कठेरिया समाज के लोग हंगामा करते हुए शादी रुकवाने की कोशिश करने लगे। बाद में ग्रामीणों ने समझाकर मामले को शांत करा दिया। इसके बाद रात में शादी की रस्में पूरी की गईं।

एटा में बारातियों को बंधक बनाने के बाद दूल्हे पुष्पेंद्र ने बताया कि दबंग फर्जी मुकदमे में फंसाने की बात कह रहे थे
एटा में बारातियों को बंधक बनाने के बाद दूल्हे पुष्पेंद्र ने बताया कि दबंग फर्जी मुकदमे में फंसाने की बात कह रहे थे

60 दबंगों ने रोका रास्ता, नवविवाहिता को पैदल ही भेजा घर

शुक्रवार की सुबह 6 बजे के आसपास ज्योति की विदाई हो गई। नवविवाहिता दूल्हे के साथ ससुराल के लिए निकल पड़ी। दूल्हे के साथ अन्य बारातियों के भी वाहन थे। अभी वह पिता के घर से करीब 200 मीटर ही आगे बढ़ी थी कि रास्ते में 60 दबंगों ने घेरकर वाहनों को रोक लिया। दुल्हन के साथ बदसलूकी की। दुल्हन ने जाने देने की सिफारिश की लेकिन वे नहीं माने। इसके बाद जबरन दुल्हन को पैदल ही पिता के घर लौटा दिया। दूल्हे समेत करीब 20 बारातियों को मोहल्ले में ही एक कमरे में बंधक बनाकर रखा।

एटा में शादी के बाद हाथों में लगी मेहंदी दिखाती दुल्हन ज्योति, नवविवाहिता ने अनुसार वह एक दिन की देरी से ससुराल पहुंची।
एटा में शादी के बाद हाथों में लगी मेहंदी दिखाती दुल्हन ज्योति, नवविवाहिता ने अनुसार वह एक दिन की देरी से ससुराल पहुंची।

दूल्हे से बोले दबंग-लिखकर दो कि गोली चलाई गई

दबंग दूल्हे पर जबरन दबाव बना रहे थे। वे कह रहे थे कि लिखकर दो कि शादी समारोह में बच्चे पर गोली भी चलाई गई। ​​​​​​दूल्हा नहीं माना तो उसे छोड़ने को राजी नहीं हुए। करीब 36 घंटे के बाद दूल्हा किसी तरह भागकर अलीगंज कोतवाली पहुंचा और पूरी घटना से अवगत कराया। दरअसल छेदालाल गौड़ ​​मोहल्ले में कुल लगभग 105 घर हैं। इनमें 3 घर कश्यप समाज के हैं जबकि बाकी कठेरिया समाज के हैं। ग्रामीणों का आरोप है ज्यादा संख्या में होने के कारण कठेरिया समाज के लोग आए दिन हंगामा करते रहते हैं।

दूल्हे को बंधक बनाने के बाद नवविवाहिता अपने घर पर दूल्हे के आने की राह देखती रही, परिवार के लोग भी मायूस दिखे।
दूल्हे को बंधक बनाने के बाद नवविवाहिता अपने घर पर दूल्हे के आने की राह देखती रही, परिवार के लोग भी मायूस दिखे।

दुल्हन की विदाई कराने फोर्स के साथ गांव पहुंचे एसडीएम

अलीगंज कोतवाली पुलिस गांव में पहुंच गई। एसडीएम मानवेन्द्र सिंह भी साथ थे। इसके बाद बारातियों को छुड़वाकर दुल्हन की विदाई की तैयारी शुरू कराई गई। शनिवार की शाम लगभग 6 बजे फोर्स की मौजूदगी में ज्योति अपने ससुराल के लिए रवाना हुई। अधीक्षक धनंजय कुशवाहा ने बताया कि मामला की जांच कर दबंगों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।