एटा में ‘भारत बंद’ का समर्थन:अखिल भारतीय किसान यूनियन ने निकाला मार्च, प्रसपा ने दिया किसानों का साथ

एटा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एटा में ‘भारत बंद’ का समर्थन। - Dainik Bhaskar
एटा में ‘भारत बंद’ का समर्थन।

एटा जिले में भारत बंद के समर्थन में अखिल भारतीय किसान यूनियन ने शहर में मार्च निकालकर कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग की। किसानों ने शहर में बाजारों को बंद कराया। यूनियन के कार्यकर्ताओं ने सड़कों पर लाठी-डंडे लेकर जलूस निकाला। पुलिस ने किसानों से लाठी-डंडे लेकर चलने का विरोध किया। इसको लेकर किसानों की पुलिस से नोकझोंक भी हुई।

प्रसपा ने किया किसानों का समर्थन

नेशनल हाईवे पर मार्च निकालते समय किसानों ने मेडिकल कॉलेज के सामने हाईवे को जाम कर दिया। सूचना पर पहुंचे उपजिलाधिकारी अलंकार अग्निहोत्री ने किसानों से बातचीत कर जाम खुलवाया। उपजिलाधिकारी के माध्यम से किसानों ने राष्ट्रपति के नाम संबोधित ज्ञापन सौंपा। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के कार्यकर्ताओं ने भी किसानों का समर्थन किया। जिलाध्यक्ष शराफत हुसैन ने कहा कि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव के आह्वान पर कार्यकर्ताओं ने किसानों का समर्थन किया है। प्रसपा एटा में कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर एक बड़ा कार्यक्रम करेगी।

अपने बचाव के लिए रखे लाठी-डंडे

लाठी-डंडे को लेकर चलने पर जब अखिल भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष से सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि करनाल की घटना सभी ने देखी है। वहां अधिकारी निरंकुश थे। उन पर पागलपन सवार हो गया था। अगर यहां भी इसी तरह हो गया तो हम अपना बचवा कैसे करेंगे। हमारे पास तोप-तलवारें तो हैं नहीं। हम 18 दिन से कलेक्ट्रेट में धरना दे रहे हैं, लेकिन हमें कोई सुरक्षा उपलब्ध नहीं कराई गई है। किसान अपने बचाव के लिए लाठी-डंडे तो रख ही सकता है।

खबरें और भी हैं...