आईटीबीपी बस हादसे में एटा का जवान शहीद:डेढ़ महीने पहले छुट्‌टी पर आए थे अमित, आज शाम तक पार्थिव शरीर पहुंच सकता है गांव

एटा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आईटीबीपी के बस हादसे में शहीद हो गए एटा के जवान अमित कुमार। - Dainik Bhaskar
आईटीबीपी के बस हादसे में शहीद हो गए एटा के जवान अमित कुमार।

जम्मू-कश्मीर के पहलगाम में मंगलवार को बड़ा हादसा हो गया था। पहलगाम के चंदनवाड़ी में आईटीबीपी के जवानों से भरी बस खाई में गिर गई। हादसे में सात की मौत हो गई, जबकि 30 जवान घायल हो गए। हादसे में एटा के जवान अमित कुमार भी शहीद हो गए। अमित कुमार की हादसे मे मौत की खबर सुनकर पूरे गांव का माहौल गमगीन हो गया। लोग अमित कुमार के घर जाकर शोक संवेदनाएं व्यक्त कर रहे हैं।

बस में 37 जवान थे सवार

हादसे की सूचना मिलते ही अमित कुमार के परिजन दिल्ली रवाना हो गए थे। हादसे के वक्त बस में 37 आईटीबीपी के 2 पुलिस के जवान और 2 बस कर्मचारी सवार थे। इस हादसे में 7 लोगों की मौत हो गयी और 30 लोग घायल हैं जिनमें 9 की हालत गम्भीर होने पर उनको एयर लिफ्ट कर श्री नगर के सैन्य अस्पताल में पहुंचाया गया है।

चार भाइयों में सबसे छोटे थे अमित

अमित कुमार एटा जनपद के अवागढ़ ब्लॉक के गांव बरा भौंड़ेला गांव के निवासी थे। वे 2007 में आईटीबीपी में कांस्टेबल के पद पर भर्ती हुए थे। चार भाइयों में अमित सबसे छोटे हैं। इनके तीन भाई दिल्ली में रहकर मजदूरी करते हैं। इनके वृद्ध मां-बाप गांव में ही रहते हैं। घर का गुजारा खेती से चलता है। पिता कुंवरपाल खेती करते हैं। अमित के अभी कोई संतान नहीं है। इनकी पहली पत्नी की प्रसव के दौरान मौत हो गयी थी। बाद में इनकी दूसरी शादी हुई थी। इनकी पत्नी वर्तमान में गर्भवती बताई जाती है।

डेढ़ महीने पहले छुट्‌टी पर आए थे

अमित डेढ़ महीने पहले 12 दिन की छुट्टी पर अपने गांव आये थे। कल अमित के परिजनों के पास आईटी बीपी मुख्यालय से फोन आया था जिसमें केवल इतना बताया गया था कि अमित जिस बस से जा रहे थे वो दुर्घटना ग्रस्त हो गयी है। जिसमें अमित को चोटें आयीं हैं।

जलेसर के उप जिला अधिकारी अलंकार अग्निहोत्री ने बताया कि अब तक प्रशासन के पास आईटीबीपी की तरफ से इस संबंध मे कोई आधिकारिक सूचना नहीं आयी है। जैसे ही कोई सूचना मिलेगी उसके अनुसार आगे की कार्रवाई की जाएगी।