एटा में साइबर टीम ने लोगों को किया जागरूक:अपराध से बचने के लिए बताए उपाय, जारी किया गया हेल्प लाइन नबर

एटा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

एटा में साइबर अपराध से बचने के लिए पुलिस अभियान चला रही है। इसके साथ ही लोगों को सजग रहने के लिए जागरूक किया जा रहा है। जिससे की साइबर फ्रॉड से लोग बच सके। साथ ही पुलिस निरंतर इसके खिलाफ अभियान चलाकर लोगों को सतर्क रहने के लिए कहती है।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक उदय शंकर सिंह के निर्देशन में अभियान चलाया जा रहा है। अभियान के तहत जनपद के विभिन्न थाना क्षेत्रों में जनपदीय पुलिस द्वारा आम लोगों को साइबर अपराध फ्रॉड से बचने एवं प्रभावी अंकुश लगाने के संबंध में जानकारी देकर जागरूक किया गया।

कंपनी के आधिकारिक वेबसाइट से निकाले नंबर
साइबर फ्रॉड, ठगी, अपराध, से बचने हेतु आमजन को संदेश किसी भी कम्पनी का कस्टमर केयर नम्बर उस कम्पनी के आधिकारिक वेवसाइट से ही प्राप्त करें। आजकल साइबर ठगों द्वारा अपने नम्बरों को विभिन्न ऑनलाइन कम्पनियों के कस्टमर केयर के नाम से गूगल पर अपडेट किया गया है।

कोई भी बैंक आपसे ओटीपी नहीं मांगता
कोई भी बैंक अधिकारी फोन पर कभी भी आपसे एटीएम खाते क्रेडिट कार्ड अन्य से सम्बन्धित जानकारी नहीं मांगता। इसलिए कभी भी फोन कॉल पर अपने बैंक से सम्बन्धित जानकारी शेयर ना करें। किसी भी क्यूआर कोड से पेमेंट लेते देते समय यह अवश्य चेक करें कि क्यूआर कोड पेमेंट रिसीव करने वाला है।

साइबर अपराध से बचने के लिए लोगों को जागरूक किया गया।
साइबर अपराध से बचने के लिए लोगों को जागरूक किया गया।

हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया
साइबर क्राइम होने पर हेल्पलाइन नम्बर 1930 पर कॉल कर अपनी शिकायत दर्ज कराये। खाते में KYC अपडेट कराने के लिये बैकों द्वारा कभी भी किसी से व्यक्तिगत जानकारों और CVV पिन नम्बर नही मांगे जाते है। ऑनलाइन सेवाएं प्रदान करने वाली कम्पनियों व सरकारी विभाग या कम्पनियों के कस्टमर केयर का नम्बर आधिकारिक वेबसाइट से ही प्राप्त करें।

खबरें और भी हैं...