मूसलाधार बारिश से टापू बना एटा:सरकारी कार्यालय, सड़कें, स्कूल-कॉलेज जलमग्न, घरों में घुसा पानी, बिजली भी काटी गई

एटा5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लगातार हो रही बारिश से सरकारी कार्यालयों में भी पानी भर गया है। - Dainik Bhaskar
लगातार हो रही बारिश से सरकारी कार्यालयों में भी पानी भर गया है।

एटा में पिछले 24 घंटे से हो रही मूसलाधार बारिश से पूरा जिला जलमग्न हो गया है। भारी बारिश ने नगर पालिका परिषद की पोल खोल दी है। पूरे शहर में सड़कें पानी से लबालब हैं। सरकारी कार्यालयों एसएसपी ऑफिस, कोतवाली नगर, जेल, कलेक्ट्रेट, ऑफिसर्स कॉलोनी, पीडब्लूडी ऑफिस, बिजली ऑफिस, रामलीला ग्राउंड, घंटा घर और सभी बाजारों मे पानी भर जाने के कारण जन जीवन अस्त-व्यस्त हो गया हैँ।

कई जगह ग्रामीण इलाकों मे कच्चे मकान गिरने की भी खबर हैँ। बारिश के चलते हुए जल भराव से पूरे एटा शहर की बिजली भी काट दी गई है, जिससे बिजली के खंभों में करेंट प्रवाहित होने से जनहानि न हो। अभी भी एटा जनपद मे लगातार हो बारिश हो रही है।

एटा में लगातार हो रही बारिश के कारण सड़कों में गड्‌ढे हो गए हैं।
एटा में लगातार हो रही बारिश के कारण सड़कों में गड्‌ढे हो गए हैं।

स्कूल में की गई छुट्‌टी
इधर भारी बारिश के चलते एटा जिला प्रशाशन ने कक्षा 8 तक के सभी स्कूलों की छुट्टी कर दी है। अन्य सरकारी कार्यालयों मे भी कर्मचारियों की उपस्थिति नहीं हो पायी है। कार्यालय सूने पड़े हैं और बाजार बंद हैं। शहर में अघोषित कर्फ्यू जैसी स्थिति नजर आ रही है। एटा जनपद में नगर पालिका द्वारा नालों की सफाई न करने के कारण एक ही बरसात मे पूरा शहर टापू बन गया है।

एटा में लगातार हो रही बारिश से सड़कें जलमग्न हो गई हैं।
एटा में लगातार हो रही बारिश से सड़कें जलमग्न हो गई हैं।

नालों की नहीं हुई सफाई
मामले में जब नगर पालिका परिषद के अध्यक्ष से बात करने की कोशिश की गई तो उनका फोन स्विच ऑफ आ रहा है। जिन बड़े नालों की बरसात से पहले सफाई होनी थी उन नालों मे फसल और झाड़-झंखाड़ उगी हुई है। नाला साफ न होने के कारण बारिश के पानी की निकासी नहीं हो पा रही और पूरे शहर मे पानी भरा हुआ है। घरों मे भरे पानी को लोग बाल्टी से निकलने में जुटे हुए हैं। एटा जनपद में भारी बारिश से कई जगह सड़कें भी धंस गई हैं।

गड्‌ढों में गिरकर हो रहे घायल
गड्‌ढों में पानी भरे होने के कारण लोग उसमे गिर रहे हैं। बाबूगंज के दुकानदार नरेश चंद्र का कहना है कि नालों की सफाई न होने से पानी की निकासी की कोई जगह ही नहीं है इसलिए जल भराव होता है।सुभाष मार्ग स्थित दुकानदार मोहम्मद लईक सिद्दीकी कहते हैं कि नालियां बंद हैं, पानी दुकान के अंदर घुस आया है, जिससे हजारों रुपये का सामान खराब हो गया। जल भराव से व्यापार भी प्रभावित हो रहा है।

घरों में कैद हुए लोग
किदवई नगर के निवासी नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष अशरफ हुसैन कहते हैं कि हमारे घर के सामने से होकर नाला जाता है। कई बार नगर पालिका परिषद के अधिकारियों से कहा पर कोई सुनवाई नहीं होती है। बताया कि नाले की जमीन भी हम लोगों ने ही दी है, जिससे आसानी से जल निकासी हो सके। लेकिन जिला प्रशाशन और नगर पालिका परिषद कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं।जल भराव के कारण लोग घरों मे कैद होकर रह गए हैं।

खबरें और भी हैं...