एटा में विवेचकों को दिया प्रशिक्षण:मेडिको लीगल एक्सपर्ट ने ऑटोप्सी की बारीकियों को समझाया,बोले- रिपोर्ट को भी डिजिटलाइज करने की जरूरत

एटा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एटा में कार्यशाला में उपस्थित विवेचक, पुलिस पर्यवेक्षणीय अधिकारी व पोस्टमार्टम करने वाले चिकित्सक। - Dainik Bhaskar
एटा में कार्यशाला में उपस्थित विवेचक, पुलिस पर्यवेक्षणीय अधिकारी व पोस्टमार्टम करने वाले चिकित्सक।

एटा के विवेचकों, पुलिस पर्यवेक्षणीय अधिकारियों व पोस्टमार्टम करने वाले चिकित्सकों के लिए रविवार को कार्यशाला का आयोजन किया गया। इसमें मेडिकोलीगल एक्सपर्ट की ओर से प्रशिक्षण दिया गया। साथ ही वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एटा की ओर से कार्यशाला में उपस्थित विवेचकों को विवेचना की बारीकियों से संबंधित आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए।

पुलिस लाइंस एटा परिसर स्थित बहुद्देशीय हाल में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक उदय शंकर सिंह के निर्देशन में कार्यशाला का आयोजन हुआ। डॉ. जी खान ने जनपद के समस्त थानों के विवेचकों, पुलिस पर्यवेक्षणीय अधिकारियों एवं पोस्टमार्टम पैनल के चिकित्सकों को विवेचना करने के संबंध में प्रशिक्षण दिया।

कार्यशाला में प्रशिक्षण देते अधिकारी।
कार्यशाला में प्रशिक्षण देते अधिकारी।

विसरा संरक्षण की उच्च तकनीक की दी जानकारी

डॉ. जी खान ने जनपद के पोस्टमार्टम पैनल के चिकित्सकों को वर्तमान समय के अनुसार ऑटोप्सी की बारीकियों को समझाया। साथ ही डीएनए एवं विसरा संरक्षण की उच्च तकनीक पर विशेष जानकारी दी। कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट को भी डिजिटलाइजेशन की आवश्यकता है, जिससे विवेचना करते समय विवेचकों को सहायता मिल सके।वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक उदय शकर सिंह ने गुणवत्तापरक विवेचना करने के संबंध में जानकारी दी।

खबरें और भी हैं...