पूर्व सपा विधायक रामेश्वर यादव का भतीजा विनोद गिरफ्तार:कोर्ट के आदेश पर दर्ज कराने गए थे बयान, 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया जेल

एटा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पूर्व विधायक रामेश्वर यादव के भतीजे सपा नेता विनोद यादव को पुलिस ने किया गिरफ्तार। - Dainik Bhaskar
पूर्व विधायक रामेश्वर यादव के भतीजे सपा नेता विनोद यादव को पुलिस ने किया गिरफ्तार।

एटा की मलावन पुलिस ने थाने बयान दर्ज कराने पहुंचे पूर्व विधायक रामेश्वर यादव के भतीजे सपा नेता विनोद यादव को एक पुराने मामले में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। दरअसल कोर्ट ने सपा नेता के परिजनों को सीओ सुनील त्यागी के समक्ष बयान देने को कहा था। इसी को लेकर सपा नेता के घर से 4 लोग मलावन थाने में बयान दर्ज कराने पहुंचे थे। जहां पुलिस ने विनोद यादव को गिरफ्तार कर लिया।

मलावन पुलिस ने दो दिन पूर्व सपा नेताओं के प्रेमनगर स्थित आवास पर नोटिस चस्पा किया था।जिसमे ये कहा जा रहा था कि आरोपी सपा नेता पुलिस को सहयोग नहीं कर रहे हैं। उसी नोटिस के अनुपालन में मलावन थाना में सीओ सकीट सुनील त्यागी के समक्ष सपा नेता विनोद, प्रमोद, सुबोध और दीपक यादव के बयान दर्ज किए गए।

मलावन थाने में बयान दर्ज कराया
सपा नेता विनोद यादव, प्रमोद यादव, सुबोध यादव और दीपक यादव सहित परिजनों ने मलावन थाना में बयान दर्ज कराये। बयान दर्ज करवाकर जाते समय पुलिस ने विनोद यादव को थाने में ही बैठा लिया। थाने मे सभी आरोपियों के लिखित व मौखिक रूप से बयान दर्ज किए गए।

लूट और हत्या के प्रयास के मुकद्दमे में वांछित थे
इसके बाद सपा नेता विनोद यादव को अलीगंज पुलिस ने मलावन थाने से गिरफ्तार कर लिया ।उन पर एक मुकदमा 294/21 धारा 395, 354 बी, 307, 324, 506 आईपीसी के तहत अलीगंज कोतवाली क्षेत्र की निवासी एक महिला ने दर्ज करवाया था। विनोद यादव एक लूट और हत्या के प्रयास के मुकद्दमे में वांछित चल रहा था।

एटा में पूर्व सपा विधायक रामेश्वर यादव के भतीजे विनोद यादव को भेजा गया जेल।
एटा में पूर्व सपा विधायक रामेश्वर यादव के भतीजे विनोद यादव को भेजा गया जेल।

कोतवाली के बाहर सपा समर्थकों का रहा जमावड़ा
अलीगंज कोतवाली पुलिस जब देर रात विनोद को मलावन थाना से गिरफ्तार करके अलीगंज पहुंची तो अलीगंज कोतवाली के बाहर सपा समर्थकों का जमावड़ा लगा रहा। इस बीच न्यायालय मे पेश करने के बाद सपा नेता विनोद यादव को भारी सुरक्षा के बीच 14 दिन की न्यायिक हिरासत में एटा जेल भेजा गया।

विनोद यादव के वकील कल बेल की डालेंगे अर्जी
विनोद यादव के अधिवक्ता आकाश चौहान ने बताया कि विनोद माननीय हाई कोर्ट के निर्देश का पालन करते हुए केस में सहयोग करते हुए परिजनों के साथ बयान दर्ज करवाने गए थे। मलावन थाना परिसर से ही पुलिस ने विनोद को गिरफ्तार कर लिया। जिस मामले में विनोद को गिरफ्तार किया गया है उसमें पुलिस एफआर लगा चुकी थी। परन्तु कोर्ट ने उसे स्वीकार नहीं किया था। एफआर पुलिस के पोर्टल पर भी है। वे कल कोर्ट मे विनोद यादव की बेल की अर्जी डालेंगे।

खबरें और भी हैं...