भरथना में छत से गिरकर हेड कांस्टेबल की मौत:10 दिन की छुट्‌टी लेकर पत्नी व बच्चों के साथ आया था घर, पैर फिसलने से सिर के बल नीचे आ गिरा

भरथना, इटावा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

इटावा रोड पर तहसील के समीप नवीन बस्ती में रह रहे हेड कांस्टेबल बीती रात छत से गिरकर गंभीर रूप से घायल हो गया था। जिसकी इटावा स्थित अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई। सिपाही की मौत के बाद उसे पूरे सम्मान के साथ विदाई दी गई।

ग्राम बंधा निवासी रमेश चंद्र यादव का छोटा बेटा दिलीप कुमार यादव उर्फ दीपू (34) जो तहसील के समीप अपने आवास पर पत्नी रूबी और 8 साल की बेटी किट्टू के साथ रह रहा था। जिला फरुखाबाद के फतेहगढ़ स्थित पुलिस लाइन में हेड कांस्टेबल के पद पर तैनात था।

17 जून को अवकाश पर भरथना स्थित घर आया हुआ था। रविवार देर शाम जब दिलीपछत पर लेटा हुआ था तभी अचानक वह किसी कार्य के लिये उठा और पैर फिसलने से नीचे खाली प्लाट में आ गिरा। दिलीप के गिरने की आवाज सुनकर उसकी पत्नी रूबी चीखने चिल्लाने लगी। पड़ोसी आनन फानन में मे दीपू को जिला अस्पताल ले गए। जहां पर इलाज के दौरान मौत हो गई।

घर में मची चीख पुकार

हेड कांस्टेबल दीपू की मौत की खबर सुनकर उसकी पत्नी रूबी, बच्ची किट्टू, मां बिट्टनश्री, पिता रमेश चंद्र यादव तथा भाई कल्लू का रो-रोकर बुरा हाल था। पुलिस ने सिपाही के शव को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया।

अफसरों ने दी सलामी

दिलीप की अंतिम विदाई पर पुलिस ने सलामी दी। इस अवसर पर उपजिलाधिकारी विजय शंकर तिवारी, पुलिस क्षेत्राधिकारी विजय सिंह, थाना प्रभारी कृष्णलाल पटेल, कस्बा चौकी प्रभारी सत्यपाल सिंह, वरिष्ठ सपा नेता मनोज यादव बंटी, सीहपुरा ग्राम प्रधान रानू