72 घंटे में 3 मर्डर, एक का भी नहीं खुलासा:इटावा जिले में अलग अलग तीन हत्त्याओं का पुलिस खुलासा नही कर सकी

इटावा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
महिला की नही हुई अब तक शीना - Dainik Bhaskar
महिला की नही हुई अब तक शीना

इटावा में 72 घंटे में अलग-अलग तीन हत्याएं हुईं लेकिन, एक भी घटना का खुलासा अभी तक नहीं हुआ। आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने पर रोष जताया है। पहला मर्डर ऊसराहार थाना क्षेत्र के कौआ गांव के पास बुधवार रात हुआ। हत्यारों ने एक महिला की गोली मारकर हत्या कर दी। शव को घटना स्थल से 20 मीटर दूर घसीटते हुए ले जाकर नाले में फेंक दिया। 60 घंटे का समय बीत चुका है लेकिन, पुलिस हत्यारों का सुराग लगाना तो दूर महिला की शिनाख्त भी नहीं कर सकी है। एसएसपी ने महिला की शिनाख्त के लिए चार टीमें गठित की है जो औरैया, मैनपुरी, कन्नौज सहित आसपास के जिलों में जाकर महिला की शिनाख्त के लिए प्रयास कर रही है।

फाइल फोटो प्रशांत
फाइल फोटो प्रशांत

युवक को लाठी-डंडों से पीटकर हत्या की
दूसरा मर्डर जसवंतनगर थाना क्षेत्र के पाठकपुरा मोड़ पर बुधवार देर रात हुआ था। बाइक सवार हत्यारों ने मैनपुरी के करहल थाना के गांव रानीपुरा के रहने वाले प्रशांत को लाठी डंडों से पीट-पीटकर हत्या कर दी। इस मामले में जसवंतनगर थाना पुलिस ने मृतक युवक के चाचा की तहरीर पर तीन नामजद और एक अज्ञात समेत चार लोगों पर मुकदमा दर्ज कर लिया था। अभी तक हत्यारे नहीं पकड़े जा सके और ना ही हत्या के पीछे का कारण का कोई पता चल सका है। पुलिस को जानकारी देने वाले नलकूप मालिक राजीव कुमार को धमकी दी जा रही है। पीड़ित ने जान माल की सुरक्षा के लिए प्रार्थना पत्र पुलिस को दिया है।

साधु रामजी चौहान का सिर कुचलकर मार डाला
गुरुवार सुबह साधु रामजी चौहान का सिर कुचलकर हत्या कर दी गई थी। रामजी चौहान सैफई थाना क्षेत्र के नगला मंतिक गांव में नगरसेन महाराज के देवस्थान पर कुटिया बनाकर रहते थे। वह कन्नौज के रहने वाले थे। साधु पिछले सात महीनों से देव स्थान पर रहते थे। इस हत्या में भी पुलिस के हाथ अभी खाली हैं। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी साधु की मौत का कारण सिर में बजनदार हथियार से प्रहार करके होना आया है।

तीन टीमें गठित, लेकिन एक भी आरोपी की नहीं हुई गिरफ्तार
एसओजी समेत थाने स्तर पर 3 टीमें गठित कर दीं। एडीजी स्तर से हत्याओं को लेकर मॉनिटरिंग की जा रही है। महिला की शिनाख्त नहीं हो पाने को लेकर गुरुवार को महिला की फिंगर प्रिंट रिपोर्ट लखनऊ भेजी गई है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जयप्रकाश सिंह ने जल्द से जल्द हत्याओं के खुलासे के लिए थाना स्तर पर टीम बना दी है। इटावा एसओजी और सर्विलांस टीम को तीनों हत्याओं की संयुक्त निगरानी के लिए लगाया है।

पुलिस के मुताबिक अपराधियों पर शिकंजा कसने का पूरा प्रयास कर रही है। ऊसराहार इलाके में अज्ञात महिला की हत्या में उसकी शिनाख्त के प्रयास जारी है। एसओजी समेत चार टीमें आसपास के जनपदों में लगी है। जसवंतनगर इलाके में हुई युवक की हत्या में भी पुलिस की दो टीमें आरोपियों के दबिश डाल रही है, जल्द खुलासा किया जाएगा। इसमें भी टीमें बना दी गई हैं। जल्द हत्या के कारणों का पता लगाकर अपराधियों को जेल भेजा जाएगा।