चकरनगर में भागवत कथा में उमड़ा जनसैलाब:कंस वध के प्रसंग का हुआ वर्णन

चकरनगर13 दिन पहले

चकरनगर तहसील क्षेत्र के गांव सकेरी सकरावली में आयोजित हो रही श्रीमद् भागवत कथा के पांचवे दिन गोवर्धन पूजा और कंस वध की कथा सुन श्रोता भाव विभोर हो गए। गोवर्धन पूजा के दौरान भक्ति में गीतों पर पंडाल में मौजूद भक्तजन थिरकते दिखाई दिए।

कथावाचक मुकेशानंद महराज ने भागवत पंडाल में मौजूद करीब एक हजार भक्तजनों को गोवर्धन पूजन की कथा सुनाई। इस मौके पर माता बहनों के द्वारा गोवर्धन पूजा करते हुए कृष्ण भगवान एवं गोवर्धन पूजा के गीतों पर थिरकी दिखाई दी। भागवत पंडाल में मौजूद भक्तजनों में इस मौके पर काफी जोश और उत्साह देखने को मिला। इसी क्रम में कथावाचक ने कंस वध की कथा सुनाते हुए कहा कि सत्य परेशान हो सकता है लेकिन पराजित नहीं हो सकता। हमेशा ही असत्य पर सत्य की जीत होती है। मनुष्य को अपने जीवन में सत्य के पथ पर चलना चाहिए। आत्मा हमेशा ही सत्य की बात बताती है, लेकिन मन असत्य के लिए विचलित करता है। इसलिए आत्मा की बात हमेशा ही हर व्यक्ति को माननी चाहिए, क्योंकि आत्मा परमात्मा का अंश है। भागवत पंडाल में मौजूद कथावाचक मुकेशानंद महाराज का कथा का आयोजन कराने वाले वीर सिंह कुशवाह ने अपने अन्य साथियों के साथ माल्यार्पण करते हुए भव्य स्वागत किया। कथा के समापन पर आरती करते हुए भक्तजनों को प्रसाद ग्रहण कराया गया।

खबरें और भी हैं...