चकरनगर में मामा व दो भांजी यमुना में डूबे:दो को बचाया गया, एक लापता, तलाश में जुटे गोताखोर

चकरनगर9 दिन पहले

थाना चकरनगर के गांव रम्पुरा में अस्थाई डेरा बनाये दलित के तीन बच्चे यमुना नदी में जानवरों को पानी पिलाने गए थे। इस दौरान वह नदी में नहाने उतरे और डूबने लगे। चीख-पुकार सुनकर एक युवक ने दो को पानी से निकाल लिया, जबकि एक नौ वर्षीय बच्ची लापता हो गई। स्थानीय गोताखोरों की मदद से पुलिस खोजबीन में जुटी हुई है, लेकिन देर शाम तक बच्ची का कोई सुराग नहीं मिला।

कंजड लक्षी के गुड्डू, पूनम व नौ वर्षीय बच्ची शिल्पा शनिवार दोपहर समय करीब एक बजे यमुना नदी में पशुओं को पानी पिलाने गये थे। अधिक गर्मी से त्रस्त बच्चे नदी में नहाने लगे। इसी दौरान अचानक गहरे पानी में जाने से तीनों बच्चे डूबने लगे। चीख-पुकार सुनकर दौड़े इकनौर निवासी किसान आनंद कुमार ने पानी में कूदकर पुत्री पूनम व पुत्र गुड्डू को बचा लिया। लेकिन तब तक शिल्पा पानी में डूब गई। सूचना पर पहुंचे स्वजन में कोहराम मचा हुआ है और पुलिस स्थानीय गोताखोरों की मदद से बच्ची को खोजने में जुटी है, लेकिन शाम तक बच्ची का कोई सुराग नहीं मिला है।

चकरनगर के सीओ राकेश कुमार वशिष्ठ ने बताया कि पशुओं को पानी पिलाने गये तीन बच्चे नदी में नहाने के दौरान डूब रहे थे, जिसमें दो को बचा लिया गया है, लेकिन एक बच्ची डूब गयी है।

खबरें और भी हैं...