इटावा में चाची भतीजे ने फांसी लगाकर दी जान:प्रेम प्रसंग का है मामला, पुलिस ने शव को लिया कब्जे में

इटावा5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अपने पति संतोष के साथ महिला पुष्पा। इन दोनों के दो बेटे और दो बेटियां हैं।  - Dainik Bhaskar
अपने पति संतोष के साथ महिला पुष्पा। इन दोनों के दो बेटे और दो बेटियां हैं। 

इटावा में चाची भतीजे ने पेड़ से फांसी लगाकर जान दे दी है। दोनों एक ईंट भट्टे पर काम करते थे। स्थानीय लोगों के मुताबिक दोनों के बीच प्रेम प्रसंग चल रहा था। दोनों ही बांदा के रहने वाले थे।

30 नवंबर को घर गए थे

बताया जा रहा है कि चाची पुष्पा और उसका पति इटावा के हरदासपुर गांव में ईंट भट्टे पर काम करते थे। यही उनके साथ उनका भतीजा भी रहता था। स्थानीय लोगों के मुताबिक दोनों के बीच प्रेम प्रसंग चल रहा था। इस बात की जानकारी उसके पति को हो गई थी। 30 नवंबर को भट्टे से अपनी तनख्वाह लेकर दोनों बांदा चले गए थे।

ईंट भट्टे पर मजदूरों से पूछताछ करते पुलिस अधिकारी।
ईंट भट्टे पर मजदूरों से पूछताछ करते पुलिस अधिकारी।

पति ढूंढने गया था बांदा

वहीं महिला के पति संतोष को जब यह जानकारी हुई तो वह दोनों को ढूंढने के लिए बांदा पहुंच गया। जहां उसे दोनों नहीं मिले लेकिन आज सुबह दोनों के सुसाइड की जानकारी जरूर मिली। अब वह इटावा की ओर आ रहा है। दोनों के शव को भट्टे पर काम करने वाले मजदूरों ने देखा। जिसके बाद पुलिस को सूचना दी गई।

घटना की जानकारी मिलने पर एसएसपी, एसपी सिटी, सीओ सिटी, सिविल लाइन एसओ मौके पर पहुंचे घटना की छानबीन की। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।