जिला अस्पताल के डेंगू वार्ड में खाली पड़े हैं बेड:इटावा सांसद रामशंकर कठेरिया ने CMO से पूछा- निजी अस्पतालों में भरे हैं मरीज, यहां क्यों नहीं आ रहे इलाज कराने

इटावा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जिला अस्पताल के डेंगू वार्ड में खाली पड़े हैं बेड। - Dainik Bhaskar
जिला अस्पताल के डेंगू वार्ड में खाली पड़े हैं बेड।

इटावा जिले में भाजपा सांसद रामशंकर कठेरिया ने शनिवार को जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण किया। डेंगू से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग की तैयारियों पर नाराजगी व्यक्त करते हुए सीएमओ और सीएमएस को फटकार लगाई। सांसद ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के चलते डेंगू से लोग बेहाल है, लेकिन विभाग को इसकी चिंता नहीं है। अस्पताल में बेड खाली होने के बावजूद लोग प्राइवेट अस्पतालों और गांवों में झोला छाप डॉक्टरों के यहां इलाज कराने को मजबूर हैं। झोला छाप डॉक्टरों के इलाज के चलते स्तिथ और बिगड़ रही है।

तीन सालों से खराब पड़ी जिला अस्पताल की लिफ्ट

बता दें कि भाजपा के इकदिल ब्लॉक के मंडल अध्यक्ष की सैफई मेडिकल कॉलेज में डेंगू के इलाज के दौरान मौत हो गई थी। उनकी अंत्येष्टि में शामिल होने के बाद सांसद रामशंकर कठेरिया सीधे जिला अस्पताल पहुंचे। अस्पताल गेट पर गंदगी को लेकर उन्होंने नाराजगी जताई। तीसरी मंजिल पर स्थित डेंगू वार्ड का निरीक्षण करने जाने से पहले सांसद ने अन्य वार्डों में भर्ती मरीजों का हाल जाना। वहीं जब सांसद ने पूछा कि लिफ्ट क्यों नहीं चल रही है तो किसी ने बताया कि लिफ्ट तीन सालों से खराब है। उन्होंने सीएमओ से जल्द ही लिफ्ट को ठीक कराने को कहा।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ सांसद ने की बैठक

डेंगू वार्ड में पहुंचकर सांसद रामशंकर कठेरिया ने पीड़ित मरीजों का हाल जाना। वहां पर खाली बेड को देखकर सांसद ने सीएमओ और सीएमएस से जानकारी ली। उन्होंने कहा कि जिले भर के निजी अस्पताल वायरल मरीजों से भरे पड़े हैं, ऐसे में जिला अस्पताल के बेड क्यों खाली हैं। इस पर सीएमओ और सीएमएस कोई उचित जवाब नहीं दे पाए। सांसद ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर उचित दिशा-निर्देश दिए। सांसद ने कहा कि जिस तरह जिले भर में डेंगू फैल रहा है, उसको लेकर जिला अस्पताल का दौरा किया गया। यहां किसी मरीज के द्वारा कोई भी शिकायत नहीं की गई है। फिर भी उन्होंने अपनी चिंता जाहिर की है कि किस तरह और बेहतर इलाज मरीजों को मिल सके।

15 डेंगू के मरीजों का सैफई में चल रहा इलाज

वहीं सीएमओ डॉ. भगवान दास ने बताया कि जिले में अभी तक 90 डेंगू के मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। सभी लोग स्वस्थ हो गए हैं। 15 डेंगू के मरीजों का इलाज सैफई मेडिकल कॉलेज में चल रहा है। इसके अलावा जिला चिकित्सालय इटावा में 28 मरीज वायरल बुखार से पीड़ित हैं, उनका इलाज चल रहा है। इनका सैंपल लेकर सैफई भेज दिया गया है। सीएमओ ने कहा कि भाजपा के मंडल अध्यक्ष की मौत भी डेंगू से नहीं हुई है। उनकी मौत का कारण मल्टी ऑर्गन फेल होना बताया जा रहा है। वहीं सांसद रामशंकर कठेरिया ने बताया था कि भाजपा मंडल अध्यक्ष की मौत डेंगू से हुई है।

खबरें और भी हैं...