इटावा...कूड़े के ढेर में जलाई गईं दवाइयां:गर्भ निरोधक दवाइयों का नहीं किया गया वितरण, रखे-रखे हुईं खराब

इटावा7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इटावा में कूड़े के ढेर में जलाई गईं दवाइयां। - Dainik Bhaskar
इटावा में कूड़े के ढेर में जलाई गईं दवाइयां।

सरकार भले ही परिवार नियोजन को बढ़ावा दे रही हो और इसके लिए तमाम प्रयास भी कर रही हो, लेकिन विभागीय अधिकारी और स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी सरकार की नीतियों को पलीता लगाते नजर आ रहे हैं।

आग के हवाले की गई दवाइयां

इटावा जिला अस्पताल में परिवार नियोजन के तहत सरकारी अस्पताल में आने वाली दवाइयां एवं कंडोम के पैकेट का वितरण न होने के चलते लाखों की तादाद में एक्सपायर होकर बर्बाद हो गए, जिन्हें अस्पताल के बंद कमरों से निकालकर आग के हवाले कर दिया गया।

जब इस बारे में महिला अस्पताल की सीएमएस कजरी गुप्ता से बात की गई तो उन्होंने कहा कि इन दवाइयों का वितरण कोविड के चलते नहीं हो पाया, जिससे ये एक्सपायर हो गईं और परिवार नियोजन की इन दवाइयों को जलाना पड़ा।

स्वास्थ्य विभाग की कार्य शैली पर उठे सवाल

हजारों की तादाद में कंडोम के पैकेट और गर्भ निरोधक गोलियों को जिला अस्पताल परिसर में जला दिया गया। जले और अधजले हजारों कंडोम के पैकेटों के ढेर ने स्वास्थ्य विभाग की कार्य शैली की एक बार फिर से पोल खोल कर रख दी। लेकिन सवाल यह है कि यदि विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों ने समय रहते इन सभी कंडोम और दवाओं का वितरण करवाया होता तो शायद लाखों रुपए की यह सामग्री बर्बाद न होती।