हत्यारोपी की सैफई में इलाज के दौरान मौत:इटावा के बाल सुधार गृह में बंद था नबालिग, ब्रेन ट्यूमर से था पीड़ित

इटावा19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नबालिग का पोस्टमार्टम करवाने पहुंचे समाज कल्याण विभाग कर्मचारी और परिजन - Dainik Bhaskar
नबालिग का पोस्टमार्टम करवाने पहुंचे समाज कल्याण विभाग कर्मचारी और परिजन

इटावा में इलाज के दौरान हत्यारोपी नाबालिग की मौत हो गई। सैफई मेडिकल कॉलेज में डेढ़ माह से इलाज चल रहा ‌था। नाबालिक की हत्या के आरोप में बाल सुधार गृह में बंद था।

जानकारी के अनुसार हत्या के आरोप में बाल संरक्षण गृह में बंद एक नाबालिग कैदी की बीमारी से मौत हो गई। नाबालिग को ब्रेन ट्यूमर था और उसका इलाज डेढ़ माह से सैफई मेडिकल कॉलेज में चल रहा था। अस्पताल प्रशासन की सूचना पर सिविल लाइन पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया।

सदर कोतवाली क्षेत्र मोहल्ला कबीर गंज निवासी कक्षा 11 के छात्र 16 वर्षीय फैज उर्फ आसिफ पुत्र सलीम वारसी की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी और शव को लायन सफारी के पास फेक दिया गया था। पिता की तहरीर पर दस के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया था। पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था। चार हत्यारोपियों के नाबालिग होने पर उन्हे बाल संरक्षण ग्रह में रखा गया था। एक नाबालिग हत्यारोपी की तबियत खराब होने पर उसे तीन अगस्त को सैफई मेडिकल कॉलेेज में भर्ती कराया गया था।

डॉक्टर ने बताया कि कैदी के सिर में पानी जम गया था, जो धीरे धीरे ट्यूमर बन गया ‌था। शनिवार रात इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। वही इस घटना की सूचना पर परिजनों में मातम छा गया।

खबरें और भी हैं...